वादे करके भूल जाते हैं नेता, नहीं दिया पेट्रोल पंप !


Photo/youtube.com

शहीद हेमराज के छोटे भाई राजवीर का सरकार की वादाखिलाफी पर झलका दर्द

मथुरा। देश के लिए शहादत देने वाले बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह के छोटे भाई राजवीर का दर्द और गुस्सा सरकार के प्रति उस समय झलक गया जब एक और जवान के शव के साथ पाक रेंजरों बदसलूकी की।

बीएसएफ जवान नरेंद्र सिंह का शव को भी पाक सैनिकों ने छत-विक्षत करने पर दिया था। ऐसी ही बर्बरता जनवरी 2013 में मथुरा निवासी लांसनायक हेमराज के साथ हुई थी। पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) के सदस्य हेमराज का सिर काट ले गए थे।

शहीद हेमराज के छोटे भाई जयवीर ने कहा है कि सरकार तो एक के बदले दस सिर लाईं नहीं, मेरा भतीजा जरूर लाएगा। जयवीर ने कहा, दो-चार दिन बाद सरकार और सिस्टम सब शहीद के परिवार को भूल जाते हैं। जो वादे करते हैं उसे पूरा नहीं करते। सरकार ने मेरे परिवार को न तो पेट्रोल पंप दिया और न शहीद स्मारक बनवाया।

जयवीर ने कहा, दुश्मनों का बदला लेने के लिए मेरा भतीजा प्रिंस (शहीद हेमराज का बेटा) तैयार हो रहा है। वो सैनिक स्कूल में पढ़ रहा है। अभी छठी क्लास में पढ़ता है लेकिन उसे एहसास है कि उसके पिता के साथ कितनी बर्बरता हुई।

हेमराज के भाई ने कहा, सरकार ने पेट्रोल पंप दिलाने का वादा किया था। मैं दिल्ली में मंत्रियों के दफ्तरों का चक्कर लगाता रहा लेकिन कुछ नहीं मिला। नेता लोग दो चार दिन बाद भूल जाते हैं। कोई नहीं सुनता।

राजबीर ने कहा, भले ही सरकार ने हमारे परिवार को उपेक्षित रखा हो, लेकिन देश के लिए लड़ाई लड़ने का जज्बा कम नहीं हुआ है, मेरा भतीजा पाकिस्तान से बदला जरूर लेगा। उन्होंने कहा, एक-दो दिन में सोनीपत के शहीद नरेंद्र के घर भी जाऊंगा, ताकि उन्हें सांत्वना दे सकूं। हौसला बढ़ा सकूं। पाकिस्तानी सेना शहीद हेमराज का सिर काटकर ले गई थी। मेरा पूरा परिवार सिर की मांग को लेकर अनशन पर बैठा हुआ था। तब कई बड़े नेता मेरे घर पहुंचे थे। उन्होंने सरकार से कहा था कि यदि शहीद हेमराज का सिर नहीं ला सकते हो तो कम से कम 10 पाकिस्तानी सिर लाकर दो। लेकिन आज तक ऐसा नहीं हुआ। उल्टे अब पाकिस्तानी सैनिकों ने हमारे एक और जांबाज के शव के साथ बर्बरता कर दी।

– ईएमएस