पैसा लेकर जबरन कराई उम्रदराज और अंपगों से शादी, गिरिजा देवी लेती थी बदले में मोटी रकम


यूपी के चर्चित देवरिया शेल्टर होम में रह रही नौ लड़कियों की शादी उनकी उम्र से ज्यादा और अपंग लोगों के साथ जबरदस्ती की गई।
Photo/Twitter
एसआईटी की जांच में 9 लड़कियों आई सामने

देवरिया । यूपी के चर्चित देवरिया शेल्टर होम कांड में पुलिस ने एक और खुलासा किया है। पुलिस की जांच में सामने आया है कि शेल्टर होम में रह रही नौ लड़कियों की शादी उनकी उम्र से ज्यादा और अपंग लोगों के साथ जबरदस्ती की गई। हैरानी वाली बात यह भी है कि यह शादी उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत हुई।

बता दें कि कुछ महीनों पहले देवरिया के शेल्टर होम में लड़कियों के साथ शारीरिक शोषण किए जाने का मामला सामने आया था। इस घटना को स्वतः संज्ञान में लेते हुए हाईकोर्ट ने सख्त निर्देश जारी किए थे। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद यूपी पुलिस ने मामले की जांच के लिए एक स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) बनाई थी। देवरिया के शेल्टर होमकांड का खुलासा 5 अगस्त को यहां रहने वाली 11 वर्षीय बच्ची ने किया था। वह किसी तरह शेल्टर होम से भागकर पुलिस के पास पहुंची थी और उन्हें शेल्टर होम में लड़कियों के साथ हो रहे शारीरिक शोषण का खुलासा किया था। एसआईटी ने जांच में पाया कि बालिका संरक्षण गृह की मालिक गिरिजा देवी ने नौ लड़कियों की उनकी मर्जी के खिलाफ शादी कराई। उनकी शादी उम्रदराज आदमियों से मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में हुई है। एसआईटी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में यह चार्जशीट दायर कर दी है।

चार्जशीट में कहा गया है कि एक लड़की की शादी एक बूढ़े व्यक्ति से कराई गई। इतना ही नहीं यह व्यक्ति शारीरिक अपंग है। लड़की उस व्यक्ति से शादी नहीं करना चाहती थी लेकिन उसके साथ जबरदस्ती की गई। एक दूसरी लड़की की शादी एक दृष्टिहीन व्यक्ति से की गई। पूछताछ में सामने आया कि शादी करने वालों ने गिरिजा त्रिपाठी को इसके बदले मोटी रकम दी थी। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना प्रदेश के महिला एवं बाल कल्याण विभाग की पहल थी। एसआईटी ने पाया कि गिरिजा त्रिपाठी सीएम सामूहिक विवाह में शादी कराने के लिए हर एक शादी के 35,000 रुपये में 5,000 रुपये अपने पास रखती थी। इस योजना के अंतर्गत सिर्फ उत्तरप्रदेश की अविवाहित लड़कियों की ही शादी कराई जा सकती है। एसआईटी ने पाया कि इसमें बिहार की तीन लड़कियों की भी शादी गैर-कानूनी ढंग से जबरन करा दी गई। दो ऐसी लड़कियां एसआईटी को मिली, जिनकी शादी पहले हो चुकी थी। एसआईटी ने गिरिजा त्रिपाठी के ऊपर मानव तस्करी, धोखाड़ी, आपराधिक षणयंत्र करने की धाराओं सहित ट्रस्ट के नियमों का उलंघन करने और सरकारी फंड का दुरुपयोग करने की धाराओं में भी चार्जशीट दायर की है।

– ईएमएस