जम्मू-कश्मीर डिफ्यूज करते समय धमाका, राजौरी में सेना का मेजर शहीद


जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास बम धमाके में सेना का एक मेजर शहीद हो गया है।
Image : Twitter

राजौरी। जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास बम धमाके में सेना का एक मेजर शहीद हो गया है। यह घटना नौशेरा सेक्टर की है। मेजर आतंकियों द्वारा लगाए गए इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस को डिफ्यूज कर रहे थे इसी दौरान ब्लास्ट हो गया। यह आईईडी अंतरराष्ट्रीय सीमा के १.५ किलोमीटर अंदर लगाया था। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता, लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि आतंकियों ने विस्फोटक उपकरण (आईईडी) लगाया था। उधर, बाबा खोड़ी इलाके में पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसमें एक सैनिक घायल हो गया है। देवेंद्र आनंद ने बताया कि सेना की तरफ से पाकिस्तान को करारा जवाब दिया जा रहा है।

गौरतलब है कि गुरुवार को दिन में क़रीब ३.३० बजे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवंतीपोर के पास गोरीपोरा में आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमला किया, जिसमें ४० जवान शहीद हो गये। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। पूरे देश को इस हमले ने हिला कर रख दिया है।

पुलवामा हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के ४० जवानों में से सबसे अधिक उत्तर प्रदेश से थे। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, असम, राजस्‍थान, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, महाराष्‍ट्र और कर्नाटक से थे। यह हमला उस वक्‍त किया गया जब सीआरपीएफ जवानों का काफिला जम्‍मू श्रीनगर हाईवे से गुजर रहा था। इस हमले में तीस जवान घायल हुए हैं, जिनमें से कुछ की हालत गंभीर है। इस हमले में शहीद सभी जवान १७वीं, ५४वीं और ९२वीं वाहिनी के थे। जवानों के इस काफिले में करीब ६० वाहन थे जिनमें २५४७ जवान मौजूद थे। इस हमले के बाद पूरे देश में आक्रोश फैला है और हर जगह से इसका बदला लेने की आवाज आ रही है।

– ईएमएस