EVM तथा VVPAT मशीनों की जांच की तुलना के मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला


(Photo Credit : freepressjournal.in)

लोकसभा चुनाव के बीच आज विपक्ष को सुप्रीम कोर्ट से एक बड़ा झटका मिला है। सुप्रीम कोर्ट में आज EVM और VVPATकी जांच की तुलना की सुनवाई की। सुप्रीम कोर्ट ने विपक्ष द्वारा दायर पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया। TDP और कांग्रेस सहित 21 विपक्षी दलों ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर मांग की थी कि 5% की बजाय 50% VVPAT और EVM की जांच चुनाव आयोग द्वारा की जाए।

इस सुनवाई के दौरान, चंद्रबाबू नायडू, डी॥ राजा, संजय सिंह और फारूक अब्दुल्ला अदालत में उपस्थित थे। याचिका को खारिज करते हुए मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा, “अदालतें इस मामले को बार-बार क्यों सुनती हैं?” हम इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करना चाहते हैं।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि जब चुनाव आयोग ने हमारी बात नहीं मानी इसलिए हम यहां आए, लेकिन अब फिर से हम चुनाव आयोग जाएंगे। दूसरी ओर, मनु सिंघवी ने कहा, “यदि परिणाम में कोई त्रुटि है, तो चुनाव आयोग ने कोई नियम जारी नहीं किया, इसलिए हम अदालत में आए।