पोंजी स्कीम: डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों से ठगे ३००० करोड़


प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करोड़ों के पोंजी और निवेश धोखाधड़ी स्कीम मामले में तेलंगाना से दो महिलाओं समेत ३ लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने करोड़ों के पोंजी और निवेश धोखाधड़ी स्कीम मामले में तेलंगाना से दो महिलाओं समेत ३ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जांच एजेंसी का कहना है कि आरोपियों ने कम निवेश में ज्यादा रिटर्न का वादा कर हजारों निवेशकों के साथ धोखाधड़ी की। ईडी ने बताया कि हीरा ग्रुप की कंपनियों से जुड़े मामले में प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत नोवहेरा शेख, मौली थॉमस और बीजू थॉमस को गिरफ्तार किया गया। हैदराबाद की विशेष कोर्ट ने इन तीनों को ७ दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है। ये तीनों पहले से ही एक पुलिस मामले में जेल में थे। ईडी ने कोर्ट से इन तीनों को उसकी हिरासत में देने की अपील की थी।

यह मामला हैदराबाद में हीरा ग्रुप द्वारा संचालित धोखाधड़ी वाली मनी सर्कुलेशन स्कीम से संबंधित है। ईडी ने तेलंगाना पुलिस और अन्य लोगों की शिकायतों के आधार पर मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया है। ईडी ने एक बयान में कहा कि हीरा ग्रुप पर लाखों निर्दोष लोगों से करीब ३६ फीसदी के रिटर्न का वादा कर लाखों रुपये जुटाने का आरोप है। ईडी को पता चला है कि आरोपी और उनकी कंपनियों ने निवेश के नाम पर देशभर में १,७२,११४ निवेशकों से ३००० करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम जुटाई है। देशभर में निवेशकों ने शेख और अन्य के खिलाफ कई एफआईआर दर्ज कराई हैं। पिड़ीतों में हैदराबाद, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, केरल और देश के अन्य राज्यों के साथ ही संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब और अन्य पश्चिम एशियाई देशों के एनआईआर भी हैं।

देशभर में विभिन्न बैंकों में खोले थे १८२ अकाउंट

जांच में पता चला है कि ग्रुप की कंपनियों की कोई ऐसी कारोबारी गतिविधियां नहीं है जिससे अधिक रिटर्न का वादा पूरा किया सके। शेख और अन्य ने लोगों से जुटाई गई रकम कंपनी के अकाउंट के जरिये अपने निजी खातों में डाला और इस रकम का इस्तेमाल भारी मात्रा में चल और अचल संपत्ति खरीदने में किया गया। आरोप है कि शेख हीरा ग्रुप के नाम पर २४ फर्म का संचालन कर रही थी और देशभर में विभिन्न बैंकों में १८२ अकाउंट थे। संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब जैसे देशों में १० बैंक खाते खोले गए थे। बीजू थॉमस केरल स्थित सुवान टेक्नोलॉजी सोल्यूशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड का एमडी था। उसने ही हीरा ग्रुप की कंपनियों के लिए सॉफ्टवेयर तैयार किया था और उसकी कंपनी ही सभी अकाउंट की जानकारी संभाल रही थी। मौली थॉमस शेख की निजी सहायक के तौर पर काम कर रही थी।

– ईएमएस