कोई इलाज से वंचित न रहे, इसके लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध : पीएम मोदी


प्रधानमंत्री ने जन औषधि परियोजना के लाभार्थियों से कहा कि हम बाधा नहीं, केवल समाधानज् की पहल के आधार पर काम कर रहे हैं।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । देश में कोई इलाज से वंचित न रहे, इसके लिए हमारी सरकार पूरी तकह प्रतिबद्ध है। यह बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों को सस्ती एवं वहनीय स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की अपनी सरकार की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कही है। पीएम ने गुरुवार को कहा कि सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र में आमूलचूल बदलाव पर काम कर रही है और इसमें हमारा मंत्र बाधा नहीं, केवल समाधान है। जन औषधि दिवस पर वीडिया कांफ्रेंसिग के जरिये प्रधानमंत्री ने जन औषधि परियोजना के लाभार्थियों से चर्चा करते हुए कहा कि हम बाधा नहीं, केवल समाधानज् की पहल के आधार पर काम कर रहे हैं। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि इस क्षेत्र में सभी पक्षकार मिलकर काम करें। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कम कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाली दवाएं उपलब्ध करा रही है।

मोदी ने कहा कि इस योजना से ८५० से ज्यादा दवाओं का मूल्य नियंत्रित किया है। हार्ट स्टेंट और घुटना प्रत्यारोपण से जुड़े उपकरणों के दाम कम किए गये हैं। सरकार ने कम कीमत पर दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए दो बड़े कदम उठाए। उन्होंने कहा कि पूरे देश में जन औणधि केंद्र की श्रृंखला स्थापित की गई है जबकि २००८ से लेकर २०१४ तक ६ वर्षों में केवल ८० दुकानें खोली गई थीं।

वहीं २०१४ के बाद पांच साल से भी कम अवधि में हमारी सरकार द्वारा पांच हजार से अधिक जन औषधि केंद्र खोले गए। पीएम ने कहा कि आजादी के ६५ वर्ष में देश में सात एम्स बने थे। हमारी सरकार के बीते पांच साल में १५ एम्स या तो बन चुके हैं या बनने की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि सभी जन औषधि केंद्र संचालकों को मेरा कहना है कि आपको साल में एक बार अपने ग्राहकों का छोटा सा सम्मेलन करना चाहिए, जिससे वो और लोगों को भी इस विषय में बताएं और जागरूक करें। मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री जन औषधि योजना से बीमारी के कारण संकट में फंसे परिवारों को मदद पहुंचाई जा रही है।

–  ईएमएस