दिल्ली हिंसा : दंगाई भीड़ का शिकार बने इंटेलिजंस अफसर, परिवार सदमे में


उत्तर-पूर्वी दिल्ली में पिछले तीन दिनों से जारी हिंसा के तांडव के बीच एक और बूरी खबर प्रकाश में आई है। पुलिस ने भारतीय खुफिया विभाग के अधिकारी अंकित शर्मा का शव नाले से बरामद किया है। अंकित शर्मा 26 साल के युवा अधिकारी थे और इंटेलिजंस ब्यूरो में सिक्योरिटी एसीस्टेंट पद पर पिछले तीन वर्षों से सेवारत थे।

अंकित शर्मा मंगलवार शाम को अपने घर लौट रहे थे तभी चांद बाग पुलिस के पास भीड़ ने उन पर हमना कर उनकी हत्या करके उनके शव का पास के नाले में फैंक दिया। पुलिस ने बाद में शव नाले से बरामद किया। सोशल मीडिया पर शेयर हो रहा इस घटना का वीडियो बड़ा विचलित करने वाला है।

 

अंकित शर्मा के पिता रविन्द सिंह जो स्वंय पुलिस विभाग में सेवारत हैं, का कहना था कि उनके बेटे की पिटाई करने के बाद उन्हें संभवतया गोली भी मारी गई।

घटना के बाद अंकित शर्मा का पूरा परिवार सदमे में है।

 

बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 20 लोगों की जान जा चुकी है और 150 से भी अधिक घायल लोग अस्पताल में पहुंचे हैं। जिन इलाकों से हिंसा की वारदातें आ रही हैं, वहां दंगाइयों को ‘देखते ही गोली मारने’ के आदेश दिये गये हैं।