आखिरी घड़ी में कांग्रेस और आप में चुनावी गठबंधन पर फिरा पानी


दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बैठक के बाद निर्णय

दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर होने वाला चुनावी गठबंधन आखिरी मौके पर नहीं हो सका।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले काफी समय से दोनों दलों के बीच चुनावी गठबंधन को लेकर कयास लगाये जा रहे थे। विपक्ष के महागठबंधन के दिग्गज नेता भी इस पक्ष के थे कि कांग्रेस और आप मिलकर दिल्ली में चुनावी मैदान में उतरें और भाजपा को मात दें।

परदे के पीछे समझौते ही बात काफी आगे बढ़ गई थी। यह भी कहा जा रहा था कि सीटों के बंटवारे को लेकर भी बात बन रही है और दोनों ३-३ सीटों पर चुनाव लड़ेंगे और एक सीट भाजपा के नाराज नेता यशवंत सिन्हा के लिये छोड़ी जायेगी।

लेकिन आ‌ििखिरी घड़ी कहा जा रहा है कि कांग्रेस ने निर्णय ले लिया है  कि वे दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ेगी।

 

यह फैसला दिल्ली के कांग्रेस के वरष्ठि नेताओं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बीच हुई बैठक में सर्वानुमति से लिया गया।

बैठक के बाद कांग्रेस की ओर से कहा गया कि वह एक राष्ट्रीय पार्टी है और दिल्ली में अपने दम पर सातों सीटें जीतने का माद्दा रखती है।