घातक वेस्ट नाइल वायरस की भारत में आहट, केरल में 1 बच्चे की मौत


वेस्ट नाइल नामक वायरस ने भारत में दस्तक दी है। वेस्ट नाइल वायरस फैलने के कारण केरल के उत्तरी मालाबार क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी किया गया है।
Photo/Twitter

तिरुवनंतपुरम। मच्छर जनित बीमारियों में अभी तक डेंगू, चिकनगुनिया और जीका वायरस के नाम सुने जाते थे पर अब एक नई घातक बीमारी की आहट भारत में हो गई है। वेस्ट नाइल नामक वायरस ने भारत में दस्तक दी है। वेस्ट नाइल वायरस फैलने के कारण केरल के उत्तरी मालाबार क्षेत्र में हाई अलर्ट जारी किया गया है। वेस्ट नाइल वायरस की चपेट में आने से केरल के सात साल के मोहम्मद शान की मौत हो गई है, जिसके बाद से प्रशासन अलर्ट पर है। वेस्ट नाइल वायरस बीमारी क्यूलेक्स नाम के मच्छर के काटने से फैलती है। इस बीमारी के लक्षण जुकाम, बुखार, बदन दर्द, थकान और मतली हैं। मच्छर के काटने से इसका असर सीधा मनुष्य के दिमाग पर पड़ता है। इसके ज्यादातर मामले उत्तर अमेरिका में सामने आए हैं लेकिन अब इसने भारत में भी दस्तक दे दी है। इस वायरस से केरल में बच्चे की मौत का यह पहला मामला है। हालांकि सात महीने पहले कोझिकोड जिले की रहने वाली एक महिला में वेस्ट नाइस वायरस जैसे लक्षण दिखे थे लेकिन उसकी जांच के बाद इस वायरल की पुष्टि नहीं हुई थी।

Photo/Twitter

केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा कि जिस बच्चे की मौत वेस्ट नाइस वायरस के कारण हुई उसे 10 दिनों तक आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था इसलिए घबराने की जरूरत नहीं है। मृतक लड़के के साथ रह रहे उसके माता-पिता और डॉक्टर को भी निगरानी में रखा गया है। शैलजा ने कहा कि हालांकि राज्य में इस वायरस का मिलना ही बड़ी चिंता की बात है। राज्य सरकार नाइल वायरस को लेकर सतर्क है और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के लगातार संपर्क में है। स्वास्थ्य निदेशक ने वायरस से निपटने के लिए उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। निजी अस्पतालों से भी आइसोलेशन वार्ड और सुरक्षा किट तैयार करने की व्यवस्था करने को कहा गया है।
– ईएमएस