कोरोना: 31 मार्च तक दिल्ली लॉक डाऊन


(PC : radarbali.jawapos.com)

नई दिल्ली (ईएमएस)। देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 6 और कुल संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 370 पहुंच गई है। इसी बीच दिल्ली सरकार ने 23 मार्च को सुबह 6 बजे से 31 मार्च रात 12 बजे तक दिल्ली में संपूर्ण लॉकडाऊन का एलान कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने बयान में कहा है कि लॉक डाऊन से लोगों को परेशानी होगी लेकिन कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिये यह जरूरी है। उन्होंने कहा कि इस दौरान कोई पब्लिक ट्रांसपोर्ट उपलब्ध नहीं होगा। हालांकि मैडिकल सहित आवश्यक सेवाएं बहाल रहेंगी। डेरी, किराने की दुकानें, मैडिकल स्टोर और पेट्रोल पंप खुले रहेंगे। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि सभी निजी कार्यालय बंद रहेंगे लेकिन सभी परमानेंट और कोन्ट्राक्चुअल कर्मचारी ऑन-ड्युटी माने जायेंगे। कंपनियों को इस समयावधि के लिये कर्मचारियों का वेतन चुकाना होगा।

उधर आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के सचिव डी एस मिश्रा ने जानकारी दी है कि इस वैश्विक महामारी के मौजूदा हालात में मेट्रो बंद करने का फैसला लिया जा रहा है। लोंगों के बीच निकटता को कम करना है ताकि वायरस के फैलने का गति को कम किया जा सके। अधिकारियों ने निर्देश दिए हैं कि मेट्रो कॉर्पोरेशन ज्यादा से ज्यादा इस जानकारी को फैलाएं ताकि रविवार को आम जनता को परेशानी ना हो। जनता कर्फ्यू की वजह से कई जगहों पर पहले से मेट्रो सेवा बंद है लेकिन केंद्र सरकार ने इसे 31 मार्च तक बंद करने का फैसला सुनाया है। इससे पहले रेलवे अंतरराज्यीय रेल नेटवर्क पर रोक लगा चुका है।

सरकार की तरफ से ये कदम वायरस के इंफेक्शन को फैलने से रोकने के लिए उठाया गया है। केंद्र सरकार के आदेश के बाद दिल्ली सरकार ने दिल्ली मेट्रो को बंद करने का ऐलान कर दिया है। दिल्ली के बाद अब कोलकाता मेट्रो और मुंबई मोनो रेल नेटवर्क ने भी 31 मार्च तक मेट्रो के संचालन को बंद करने का फैसला किया गया है। डीएमआरसी के कॉरपोरेट कम्यूनिकेशन के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनुज दयाल सरकार के निर्देशों को ध्यान में रखते हुए 31 मार्च तक मेट्रो के संचालन पर रोक लगा दी गई है। ये कदम कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए उठाया गया है। हालांकि दिल्ली मेट्रो कुछ जरूरी संचालन के लिए आंतरिक तौर पर खुली रहेगी।