भारत बंद अपडेट : देश के कई हिस्सों में आगजनी, बिहार में बच्ची की मौत


Photo : EMS
  • राहुल ने कहा नोटबंदी और जीएसटी से छोटे दुकानदार परेशान
  • रांची में 58 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी पर भारत बंद के सहारे कांग्रेस मोदी सरकार एक तीर से दो निशाने साधती नजर आई। कांग्रेस ने बंद के दौरान जहां मोदी सरकार को घेरा, वहीं लोकसभा चुनाव के लिए अपनी अगुआई में महागठबंधन की एकता को दिखाने की भी भरपूर कोशिश की। सोमवार को बंद के दौरान दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पीएम मोदी पर निशाने के साथ महागठबंधन को मजबूत करने की अपील भी करते नजर आए। कांग्रेस द्वारा आयोजित इस बंद में विपक्ष के 21 दलों ने हिस्सा लिया।

दरअसल, कांग्रेस को यह मालूम है कि वह फिलहाल वहां अपने दम पर बीजेपी को टक्कर देने की स्थिति में नहीं है,इसकारण महागठबंधन के द्वारा भगवा दल को टक्कर देने की उसकी रणनीति है। कांग्रेस बंद के द्वारा यह भी संदेश देना चाहती है कि उसकी छतरी में तमाम विपक्षी दल हैं। रामलीला मैदान में प्रदर्शन में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी से शरद पवार, आरजेडी से जयप्रकाश नारायण यादव, लोकतांत्रिक जनता जल से शरद यादव, आम आदमी पार्टी से संजय सिंह, सहित डीएमके एवं कई अन्य विपक्षी दलों के नेता भी शामिल हुए।
भारत बंद का समर्थन करने वालों में विरोधी दलों में शरद पवार की एनसीपी, डीएमके, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की जनता दल (सेक्युलर), राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना, शरद यादव की लोकतांत्रिक जनता दल, आरजेडी, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम), बीएसपी, सीपीआई, सीपीएम, पीडब्लूपी, शेतकरी कामगार पार्टी, आरपीआई (जोगेंद्र कवाडे गुट) और राजू शेट्टी की स्वाभिमानी शेतकरी पार्टी का समर्थन हासिल है। इन सभी विरोधी दलों के अलावा कांग्रेस का दावा है कि कई चैंबर ऑफ कॉमर्स और कई मजदूर संगठनों का भी उस साथ मिला है।

नोटबंदी और जीएसटी ने छोटे दुकानदारों को बेकार कर दिया : राहुल

कैलास यात्रा से लौटे राहुल गांधी ने रामलीला मैदान में कांग्रेस द्वारा आयोजित बंद के दौरान मौजूद नेताओं के बीच एकबार फिर केंद्र की बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला। राहुल ने अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, पीएम मोदी जहां जाते हैं लोगों को तोड़ते हैं। पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं पीएम कुछ नहीं बोलते हैं। 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का उनका वादा कहां गया? आज गैस सिलेंडर की कीमत 800 रुपये की हो गई है। देश जो सुनना चाहता है उसके बारे में मोदी कुछ नहीं बोलते हैं।

राहुल ने कहा, किसान और मजदूर को रास्ता नहीं दिख रहा है। किसान का कर्ज माफ नहीं होता है। संसद में राफेल डील पर सवाल उठते हैं लेकिन पीएम उसका जवाब नहीं देते हैं। नोटबंदी के कारण छोटे रोजगार और छोटे दुकानदारों को नष्ट कर दिया। कालाधन वापस आने की जगह उल्टे सभी भ्रष्टाचरियों का कालाधन सफेद हो गया। नोटबंदी से कोई फर्क नहीं पड़ा। वहीं मोदी सरकार के द्वारा लागू की गई जीएसटी पर भी निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, सोच एक टैक्स की थी, पांच अलग-अलग टैक्स दे दिए गए। मोदी सरकार ने वादे ही पूरे नहीं किए। छोटे कारोबारी के पास जाएंगे तो आपको सच्चाई पता चलेगी। उन्होंने कहा, हम सब एकसाथ मिलकर बीजेपी को हराने जा रहे हैं। जो दुख देश की जनता के दिल में है वो हम सबके दिल में है। हम सब एकसाथ मिलकर बीजेपी को हराने का काम करने में जुट जाएं।

लोकतंत्र को बचाने के लिए एकजुट हों सभी दल : मनमोहन

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के बाद मंच पर से पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नरेंद्र मोदी सरकार पर वादों को पूरा करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए सभी विपक्षी दलों का ‘देश की एकता,अखंडता और लोकतंत्र को बचाने के लिए एकजुट होने का आह्वान किया। रामलीला मैदान में आयोजित विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा

इतनी बड़ी संख्या में विपक्षी दलों के नेताओं का शामिल होना बहुत महत्वपूर्ण कदम है। मोदी सरकार ऐसा बहुत कुछ कर चुकी है जो हद को पार कर चुका है। इस सरकार को बदलने का समय आने वाला है। आज किसान, नौजवान सहित हर तबका परेशान है।

सिंह ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार अपने वादों को पूरा करने में विफल रही है। मनमोहन ने कहा,इस सरकार में किसान, छोटे व्यापारी परेशान हैं। युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है। मोदी सरकार ने जो वादे किए थे वे पूरे नहीं हुए हैं। हमें देश की एकता और अखंडता बचाने का काम करना होगा। मोदी सरकार ने ऐसे कई काम किए हैं देशहित में नहीं है।

भारत बंद: 58 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया

कांग्रेस की ओर से बुलाये गए ‘भारत बंद’ को जबर्दस्ती लागू कराने के लिए झारखंड में सोमवार को पार्टी के 58 कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। देश में ईंधन के बढ़ते दाम के खिलाफ कांग्रेस के ‘भारत बंद’ को प्रदेश में झारखंड मुक्ति मोर्चा, राष्ट्रीय जनता दल और वामपंथी पार्टियों ने समर्थन किया। पुलिस अधीक्षक इंद्रजीत महता ने बताया कि जबरन बंद कराने का प्रयास करने पर पलामू जिला कांग्रेस अध्यक्ष जयेश रंजन पाठक सहित 58 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया। रिपोर्ट के मुताबिक, गढ़वा जिले को छोड़कर पाकुड़, जमशेदपुर, रांची, हजारीबाग, लोहरदगा, गुमला, रामगढ़, गिरिडीह, लतेहार, पलामू, धनबाद और अन्य जिलों में सामान्य जीवन प्रभावित नहीं हुआ है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस की सुरक्षा में मालगाड़ी और यात्री ट्रेनें चलाई जा रही हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि रांची सहित राज्य के अधिकांश हिस्सों में यातायात सामान्य है।

एमएनएस, कांग्रेस और एनसीपी कार्यकर्ताओं ने ठाणे में किया सड़क जाम

मुंबई में भारत बंद के दौरान महाराष्ट्र नव-निर्माण सेना (एमएनएस) और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने ठाणे के ईस्टर्न हाईवे और तीन हाथ नाका पर सड़क को जाम कर दिया। ठाणे में नितिन कंपनी जंक्शन से लेकर 3 हाथ नाक जंक्शन तक ईस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे पर जाम लग गया। एमएनएस कार्यकर्ताओं ऑटो रिक्शा वालों को भी सड़कों से जबरदस्ती हटाने की कोशिशें की। मुंबई के अलग-अलग हिस्सों में सुबह से कुल 14 बीईएसटी की बसों में तोड़फोड़ की गई है।

औरंगाबाद में बंद के दौरान भिड़े कांग्रेस विधायक और भाजपा कार्यकर्ता

विपक्षी दलों की ओर से सोमवार को आयोजित भारत बंद के दौरान औरंगाबाद में कांग्रेस विधायक और भाजपा समर्थकों में भिड़ंत हो गई। औरंगाबाद विधायक आंनद शंकर और मुखिया संघ के जिलाध्यक्ष बाइपास के समीप आपस मे भीड़ गए। इस दौरान दोनों तरफ से जमकर लाठियां भांजी गयी। दरअसल भाजपा समर्थक बंद का विरोध कर रहे थे। सूचना पर भारी संख्या में और कांग्रेस व राजद समर्थक के साथ वाम दल के लोग वहां पहुंचे ओर मारपीट शुरू हो गई। घटना के बाद स्थिति तनावपूर्ण है। इस मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह से समझ बुझा कर दोनों पक्षों को शांत कराया। पुलिस ने दोनों पक्षों को अलग कराया। इस दौरान बंद समर्थक वीरेंद्र प्रसाद गुप्ता, रामाबंध रामजी प्रसाद,न्यू एरिया का ठेला फेंक दिया। इसके बाद बंद समर्थकों ने बस रोक दी। पुलिस ने किया बीचबचाव किया।

कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ता उडुप्पी में भिड़े

कर्नाटक के उडुप्पी में भारत बंद के दौरान कांग्रेस और बीजपी कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। उसके बाद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने लाठिया भांजी। बीजेपी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस जबरदस्ती वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों को बंद करवा रही थी। इस घटना में बीजेपी के जिला अध्यक्ष प्रभाकार पुजारी घायल हुए हैं।

भारत बंद के चलते असम में ट्रेन सेवा प्रभावित

असम में प्रदर्शनकारियों के चलते 9 ट्रेनें रोक दी गई और करीब 20 से 80 मिनट की देरी से चल रही थी। नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर रेलवेज के मुताबिक,प्रदर्शनकारियों ने लुमडिंग,तिनसुकिया डिविजन सहित कई जगहों पर ट्रेन रोकी। प्रदर्शनकारियों ने सिल्चर, दिगबोई और नाकाचारी और मरियानी के बीच भी ट्रेन सेवाएं रोक दी। एनएफ रेलवे ने जारी बयान में कहा इन प्रदर्शनकारियों को हटा दिया गया है और ट्रेन सेवा सुचारु रूप से बहाल कर दी गई है।

बच्ची की मौत पर, रविशंकर प्रसाद ने उठाया सवाल

बिहार के जहानाबाद में भारत बंद की वजह से लगे भीषण ट्रैफिक जाम के चलते दो साल की एक बीमार बच्ची की मौत होने की खबर है। बच्ची को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया जा रहा था, लेकिन वक्त रहते जाम न खुल पाने के चलते बच्ची ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सभी को प्रदर्शन का अधिकार है लेकिन ये क्या हो रहा है? लोगों की जान खतरे में डाला जा रहा है। बिहार के जहांनाबाद में एंबुलेंस के प्रदर्शन में फंसने के बच्ची की मौत हो गई। इसका जिम्मेदार कौन है।

अगले पेज पर देखें रामलीला मैदान पर मोदी और कार्यकर्ताओं के नारों में गड़बड़ी से उपजा हास्य