जानिये सर्जिकल स्ट्राइक के वो कौन रणनीतिकार थे जिसे कांग्रेस ने सौंपी अहम जिम्मेदारी


(PC : Twitter / @INCIndia)

नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस पार्टी ने भारतीय सेना द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की निगरानी करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुडा (रिटायर्ड) राष्ट्रीय सुरक्षा पर गठित एक टास्क फोर्स का नेतृत्व सौंपा है। वह विशेषज्ञों के समूह से विचार-विमर्श कर डॉक्युमेंट तैयार करेंगे। सर्जिकल स्ट्राइक के समय हुडा नॉर्दर्न आर्मी कमांडर थे।

लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुडा (रिटायर्ड) से मिले राहुल गांधी

गुरुवार को कांग्रेस पार्टी के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में बताया गया, ‘कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर टास्क फोर्स गठित करने के लिए आज लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुडा (रिटायर्ड) से मुलाकात की, जो देश के लिए एक विजन पेपर तैयार करेंगे।’ कांग्रेस पार्टी ने सर्जिकल स्ट्राइक के ‘हीरो’ को यह जिम्मेदारी ऐसे समय में सौंपी है जब चुनाव की घोषणा होने में कुछ ही हफ्ते बचे हैं।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में पल रहे आतंकियों के खिलाफ 2016 में भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर कई आतंकी कैंपों को नष्ट कर दिया था। इस ऑपरेशन में कई आतंकी मारे गए थे। केंद्र सरकार ने इसे जोर-शोर से प्रचारित भी किया। हालांकि रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल हुडा ने कहा था कि सर्जिकल स्ट्राइक के इतने प्रचार की जरूरत नहीं थी।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सर्जिकल स्ट्राइक को ‘जरूरत से ज्यादा तूल दिए जाने’ संबंधी सेना के पूर्व अधिकारी लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) डीएस हुडा के बयान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला था। वहीं देश के कुछ नेताओं ने सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत भी मांगे थे।