चुनाव अभियान का आगाज करने कांग्रेस नेतृत्व वर्धा आश्रम में


(Photo: IANS)

नागपुर| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित शीर्ष पार्टी नेतृत्व वर्धा स्थित ऐतिहासिक सेवाग्राम आश्रम पहुंच गया है, और ऐसे संकेत हैं कि वे मंगलवार को 2019 के लोकसभा चुनाव अभियान का शुभारंभ करेंगे। मंगलवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है। पार्टी पदाधिकारियों ने कहा कि राहुल गांधी, उनकी मां सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पार्टी के अन्य नेता मंगलवार सुबह सेवाग्राम आश्रम में बापू कुटीर में श्रद्धा सुमन अर्पित करेंगे, प्रार्थना सभा में हिस्सा लेंगे और उसके बाद पास में स्थित माधव भवन में कांग्रेस कार्यकारिणी की एक विशेष बैठक में हिस्सा लेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जिला कलेक्टोरेट के पास में स्थित महात्मा गांधी की एक प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे, पदयात्रा करेंगे और शहर के सर्कस ग्राउंड में एक रैली को संबोधित करेंगे।

आल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के एक नेता ने कहा कि ये आयोजन काफी महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि इसी जगह 1942 में गांधीजी के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक हुई थी, जिसमें आठ अगस्त, 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन शुरू करने का निर्णय लिया गया था, और जिसके कारण पांच साल बाद ब्रिटिश शासन का खात्मा हो गया था।

एआईसीसी के सचिव और विधायक हर्षवर्धन सकपाल ने मीडिया को बताया, “हम बापू की 150वीं जयंती और भारत की आजादी के 70वें साल का जश्न मना रहे हैं। इसलिए हम यहां सीडब्ल्यूसी की एक बैठक आयोजित कर रहे हैं।”

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया को संबोधित करते हुए सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला बोला।

उन्होंने आरोप लगाया कि लोगों में नफरत, फूट, और हिंसा फैलाने में आरएसएस और पाकिस्तान एक जैसे हैं, और भाजपा सरकार सांप्रदायिक, जाति और धर्म के आधार पर लोगों का ध्रुवीकरण में जुटी हुई है।

सुरजेवाला ने कहा, “ब्रिटिश राज के दौरान देश की बहुलता ‘फूट डालो और राज करो की नीति’ के कारण खतरे में थी.. आज भाजपा की नीतियां ठीक इसी तरह हैं।”

उन्होंने कहा, “जिस तरह देश ने महात्मा गांधी के नेतृत्व में आजादी हासिल की, उसी तरह हम राहुल गांधी के नेतृत्व में देश को भाजपा से आजाद कराएंगे।”

इस बीच, राज्य के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंतीवार ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा चरखा सेवाग्राम आश्रम परिसर के बाहर अनावरित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि लगभग 31 फुट गुणा 19 फुट का यह चरखा दिल्ली हवाईअड्डे पर रखे गए चरखे से बड़ा होगा।

मुनगंतीवार ने कहा कि सरकार एक पीपल के पेड़ से 206 पौधे तैयार करेगी, जिसे गांधीजी ने 1936 में लगाया था। इन पौधों को 150वीं जयंती के मौके पर महाराष्ट्र में 206 शहीद स्मारकों पर लगाया जाएगा।

सरकार ने मंगलवार को विभिन्न जेलों से 101 कैदियों को भी रिहा करने की योजना बनाई है, जिसमें 28 मुंबई के आर्थर रोड केंद्रीय कारागार और रायगढ़ के अलोजा केंद्रीय कारागार के कैदी शामिल हैं।

गांधीजी ने सेवाग्राम में लगभग 10 साल बिताए थे।

वह जिस बापू कुटीर में रहते थे, वह आज विद्यार्थियों, विद्वानों, शोधार्थियों, देशी-विदेशी पर्यटकों और गांधीवादियों के लिए मक्का बन गया है।

–आईएएनएस