मोदीफोबिया से जूझ रहे हैं कांग्रेस व विपक्षी : अमित शाह


पुरी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को कांग्रेस और ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजेडी) सहित अन्य विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें मोदीफोबिया हो गया है।

शाह ने यहां पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं की एक रैली को संबोधित करते हुए यह बात कही।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा, “जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ओर ‘मेक इन इंडिया’ में व्यस्त हैं, वहीं दूसरी ओर कांग्रेस और बीजेडी सहित अन्य विपक्षी पार्टियां ‘ब्रेक इन इंडिया’ में व्यस्त हैं। मोदी जी कहते हैं गरीबी हटाओ और विपक्षी कहते हैं मोदी हटाओ। ऐसा लग रहा है कि विपक्षी पार्टियों को मोदीफोबिया हो गया है।”

शाह ने कहा कि विपक्षी पार्टियों का कोई एजेंडा नहीं है।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और उनकी पार्टी पर हमला करते हुए शाह ने कहा कि बीजेडी ने 18 साल के कुशासन के बाद राज्य की सत्ता में बने रहने के सभी अधिकार खो दिए हैं।

उन्होंने कहा, “जिस तरह से राज्य सरकार ने अपने शासनकाल के दौरान काम किया है, उसके कारण उसे आगे सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है।”

शाह ने पार्टी की कार्यकर्ताओं से कहा कि ओडिशा में अगली सरकार भाजपा की होगी।

उन्होंने कहा, “ओडिशा की मांओं और बहनों के आशीर्वाद से भाजपा 2019 चुनावों के बाद राज्य में अगली सरकार बनाएगी। भाजपा से राज्य का नया मुख्यमंत्री बनाने के लिए मैं लोगों से समर्थन मांग रहा हूं।”

उन्होंने कहा कि ओडिशा में जनता के प्रतिनिधि नहीं बल्कि नौकरशाह शासन कर रहे हैं।

शाह ने कहा, “पिछले चार वर्षो में राज्य को केंद्र सरकार द्वारा 4.5 लाख करोड़ की राशि आवंटित की गई लेकिन यह धन जरूरतमंद लोगों तक नहीं पहुंचा। अधिकारियों न इस फंड को हड़प लिया।”

राज्य सरकार पर आयुष्मान भारत योजना को लागू न करने का आरोप लगाते हुए शाह ने कहा, “नवीन बाबू को राज्य के लोगों की नहीं, केवल अपनी कुर्सी की चिंता है।”

शाह ने राज्य सरकार को पिछले तीन वर्षो में भाजपा के 14 कार्यकर्ताओं की मौत के लिए भी जिम्मेदार ठहराया।

-आईएएनएस