यस बैंक को लेकर चिदंबरम का तंज, कभी-कभी लगता है कि आज भी मैं ही वित्त मंत्री हूं!


(PC : dnaindia.com)

नई दिल्ली (ईएमएस)। यस बैंक को लेकर देश में सत्ता-विपक्ष के बीच राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस की तरफ से पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि कभी-कभी मैं जब वित्त मंत्री को सुनता हूं,तब ऐसा लगता है कि अभी भी यूपीए सत्ता में है और मैं वित्त मंत्री हूं। उन्होंने 2014 से 2019 के बीच यस बैंक की तरफ से बांटे गए लोन को लेकर विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 2014 के बाद किसने यस बैंक को लोन बांटने की इजाजत दी। चिदंबरम ने कहा कि वित्त मंत्री इस सवाल का जवाब दें कि कैसे यस बैंक का लोन बुक 2014 से 2019 के बीच पांच गुना बढ़ गया। जहां 2014 मार्च में लोन बुक अमाउंट 55 हजार करोड़ था जो मार्च 2019 में बढ़कर 2 लाख करोड़ के पार पहुंच गया। केवल दो सालों में 98 हजार करोड़ से बढ़कर 2 लाख करोड़ के पार पहुंच है।

इस मौके पर यस बैंक को बचाने के लिए एसबीआई की वर्तमान स्कीम को लेकर चिदंबरम ने सवाल उठाकर कहा कि स्टेट बैंक 2450 करोड़ में 49 फीसदी शेयर खरीदेगा। उन्होंने इस स्कीम की जगह यस बैंक के टेकओवर की बात कही और कहा कि एसबीआई बैड लोन बुक की उगाही करे। चिदंबरम ने एसबीआई की स्कीम पर सवाल खड़े कर कहा कि यह विचित्र है कि जिस बैंक का नेटवर्थ शून्य है, उसका 49 फीसदी शेयर एसबीआई खरीद रहा है। बेहतर होगा कि एसबीआई एस बैंक का टेकओवर करे और जमाकर्ताओं को यह सुनिश्चित किया जाए कि उनका एक-एक पैसा सुरक्षित है। साथ ही बैड लोन की रिकवरी शुरू की जाए।