लोकसभा की 83 सीटे वाले 5 राज्य हारने के बाद 2019 में क्या करेगी भाजपा!


5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सेमीफाइनल मैच की तरह देखा जा रहा है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सेमीफाइनल मैच की तरह देखा जा रहा है। जिसमे कांग्रेस पूरी तरह से भाजपा से काफी आगे निकल गई है। कांग्रेस ने भाजपा को अहसास करा दिया है कि उसे भाजपा का ”कांग्रेस मुक्त भारत” नारा कभी पूरा नहीं होने देगी, जिसे बोलकर भाजपा ने 2014 में केंद्र की सत्ता हासिल की थी। इन नतीजों के बाद भाजपा अपनी कमजोरी का पता करने में जरूर जुटी है, लेकिन इन 5 राज्यों से आने वाली लोकसभा की 83 सीटे सीटों के भविष्य पर तलवार लटक गई है। भाजपा और कांग्रेस के लिए इन सीटों को मजबूत करके अपने पाले में डालने की होड़ शुरू हो गई है।

5 में से 3 राज्यों मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस सत्ता की कुर्सी पर बैठने वाली है। जबकि अन्य 2 राज्यों तेलंगाना और मिजोरम में भी कांग्रेस की स्थिति भाजपा से बेहतर है। अगर बात लोकसभा सीटों की करे तो जिन 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए हैं वहां कुल लोकसभा सीटें 83 हैं। इन 5 राज्यों के चुनाव परिणामों से ऐसा लगा रहा कि 2019 लोकसभा चुनावों में भाजपा को बड़ा झटका लग सकता है। जबकि कांग्रेस को लाभ मिल सकता है। वहीं 83 सीटों का आंकड़ा कोई छोटा आंकड़ा नहीं होता है। यह किसी भी पार्टी की स्थिति बिगाड़ सकती है और बेहतर भी बना सकती है।

मध्यप्रदेश विधानसभा की 230 सीटों पर चुनाव हुआ, जिनमें से बहुमत के लिए 116 सीटों की आवश्यकता है, जहां कांग्रेस बहुमत की ओर है। अभी कांग्रेस ने 114 सीटों पर बढ़त हासिल की, जबकि भाजपा 108 पर है। वहीं यहां लोकसभा सीटों की संख्या 29 हैं। अगर इन नतीजों से लोकसभा चुनावों में भाजपा केवल 14 सीटें ही जीत सकती है। वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो वह 16 सीटें जीत सकती है।

वहीं दूसरी ओर तेलंगाना विधानसभा की 119 सीटों पर चुनाव हुआ, जिनमें से बहुमत के लिए 60 सीटों की जरूरत है। अभी कांग्रेस ने 19 सीटों पर बढ़त है, जबकि भाजपा 1 पर है। वहीं यहां लोकसभा सीटों 17 हैं। अगर इन नतीजों से अनुमान लगाएं तो लोकसभा चुनावों में भाजपा को 1 भी सीट नहीं मिलेगी। वहीं अगर कांग्रेस 3 सीटें जीत सकती है।

 

– 5 राज्यों में कितनी है लोकसभा सीटें

मध्य प्रदेश- 29

राजस्थान- 25

तेलंगाना- 17

छत्तीसगढ़- 11

मिजोरम- 1

– ईएमएम