भाजपा इन नेताओं को राज्यसभा में भेज सकती है


(Photo Credit : dnaindia.com)

नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में, विदेशमंत्री बने एस जयशंकर को भाजपा गुजरात से राज्यसभा में भेज सकती है। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को बिहार से राज्यसभा में भेज सकते हैं। वर्तमान में, एस. जयशंकर और रामविलास पासवान न तो लोकसभा सदस्य हैं और न ही राज्यसभा सदस्य हैं। ऐसे में, उन्हें 6 महीने के भीतर अनिवार्य रूप से दो सदस्यों में से एक सदस्य बनना होगा।

उल्लेखनीय है कि गुजरात की गांधीनगर सीट से अमित शाह, उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से स्मृति ईरानी और बिहार की पटना साहिब सीट से रविशंकर प्रसाद चुनाव जीते हैं। अमित शाह और स्मृति ईरानी गुजरात से जबकि रविशंकर प्रसाद बिहार से राज्यसभा सांसद थे। लेकिन चुनाव जीतने के बाद इन तीनों ने इस्तीफा दे दिया। इसलिए, इन स्थानों पर भाजपा बिहार से रामविलास पासवान और गुजरात से एस. जयशंकर को राज्यसभा भेज सकते हैं।

जयशंकर के लिए छवि परिणाम

इस वर्ष, सेवानिवृत्त सुब्रमण्यन जयशंकर 36 वर्षों की सबसे लंबी विदेश सेवा के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने दिल्ली के सेंट स्टीफन कॉलेज से स्नातक किया और जेएनयू से अंतर्राष्ट्रीय संबंध में एमए किया। जनवरी 2015 से जनवरी 2018 तक, विदेश सचिव रह कर उन्होंने मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान अपनी विदेश नीति को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।