8 महीने के सबसे निचले स्तर पर पहुंचे पेट्रोल के दाम


दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत ३३ पैसे घटकर 8 महीने के निचले स्तर ७३.२४ रुपये प्रति लीटर पर आ गयी।

नई दिल्ली। पेट्रोल और डीजल के दाम गुरुवार को लगातार 8वें दिन घटने से उपभोक्ताओं को मिल राहत का सिलसिला जारी है, लेकिन अंतराष्ट्र्रीय बाजार में कच्चे तेल में तेजी लौटने से यह गिरावट थम सकती है। देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉपोर्रेशन के अनुसार, दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत ३३ पैसे घटकर 8 महीने के निचले स्तर ७३.२४ रुपये प्रति लीटर पर आ गयी। डीजल की कीमत भी ३६ पैसे कम होकर ६८.१३ रुपये प्रति लीटर रह गयी जो ३ अगस्त के बाद का निचला स्तर है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में गुरुवार को पेट्रोल के भाव क्रमश: ७३.२४ रुपये, ७५.२४ रुपये, ७८.८० रुपये और ७६.०१ रुपये प्रति लीटर दर्ज किए गए। चारों महानगरों में डीजल की कीमतें क्रमश: ६८.१३ रुपये, ६९.९८ रुपये, ७१.३३ रुपये और ७१.९५ रुपये प्रति लीटर दर्ज की गईं। तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली और कोलकाता में पेट्रोल के दाम में ३३ पैसे प्रति लीटर की कटौती की, जबकि मुंबई ३२ पैसे और चेन्नई में ३४ पैसे प्रति लीटर। डीजल की कीमतें दिल्ली और कोलकाता में ३६ पैसे प्रति लीटर घटी हैं। वहीं, मुंबई में डीजल ३८ पैसे और चेन्नई में ३९ पैसे प्रति लीटर सस्ता हो गया है।

एंजेल ब्रोकिंग हाउस के ऊर्जा विशेषज्ञ अनुज गुप्ता का कहना है कि छह दिसंबर को वियना में ओपेक देशों की बैठक है जिसमें सऊदी अरब तेल की आपूर्ति घटाने पर जोर डालेगा, जिसके कारण कच्चे तेल के दाम में तेजी आई है। हालांकि अमेरिकी एजेंसी एनर्जी इन्फोरमेशन एडमिनिस्ट्रेशन के अनुसार, अमेरिका में तेल का भंडार २३ नवंबर को समाप्त हुए सप्ताह में ३६ लाख बैरल बढ़कर ४५.०५ करोड़ बैरल हो गया है। उन्होंने कहा कि कच्चे तेल का भंडार बढ़ने से कीमतों पर आगे भी दबाव रहेगा।
अंतराष्ट्र्रीय वायदा बाजार आईसीई पर ब्रेंट क्रूड का फरवरी वायदा अनुबंध ५९.८५ डॉलर से फिसलकर ०.१२ फीसदी की बढ़त के साथ ५९.१६ डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था। वहीं नायमैक्स पर डब्ल्यूटीआई का जनवरी डिलीवरी अनुबंध ५१ डॉलर से फिसलकर ०.५० फीसदी की बढ़त के साथ ५०.५६ डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था।

– ईएमएस