अमृतसर शताब्दी में तेजस ट्रेन के कोच का यात्री लेंगे आनंद


दिल्ली-अमृतसर शताब्दी ट्रेन के यात्री अब तेजस ट्रेन के कोच का आनंद ले सकेंगे। इसके लिए उन्हें अतिरिक्त पैसे खर्च करने की भी आवश्यकता नहीं होगी।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। दिल्ली-अमृतसर शताब्दी ट्रेन के यात्री अब तेजस ट्रेन के कोच का आनंद ले सकेंगे। इसके लिए उन्हें अतिरिक्त पैसे खर्च करने की भी आवश्यकता नहीं होगी। गुरुवार से अमृतसर शताब्दी ट्रेन के सभी कोच हटाकर आधुनिक सुविधाओं वाली कोच को जोड़ दिया गया और यह यह ट्रेन यात्रा पर भी निकल गई। कई दिनों से यार्ड में खड़ी तेजस ट्रेन के रेक को अगले दो महीने तक के लिए अमृतसर शताब्दी ट्रेन में जोड़ दिया गया है। नई रूट पर इस ट्रेन को नहीं चलाकर अमृतसर शताब्दी के पुराने रेक पर दे दिया गया।

दिल्ली-सोनीपत के बीच बुधवार को इस ट्रेन का ट्रायल किया गया। गार्ड को भी ट्रेनिंग दी गई। अमृतसर शताब्दी में तेजस का रेक लग जाने से यात्रियों को ज्यादा सुविधाएं मिलेंगी। अमृतसर शताब्दी १२०३२/१२०३१ में कुर्सी यान की संख्या ९३८ थी जो अब बढ़कर १०९२ हो गई हैं। किफायती वर्ग में ९२ सीट की जगह अब ११२ हो गई हैं। इस ट्रेन में वातानुकूलित कुर्सी यान के १४ और किफायती वर्ग के २ कोच हैं। नई दिल्ली-चंडीगढ़ और आनंद विहार-लखनऊ के बीच तेजस ट्रेन चलनी है। तेजस एक्सप्रेस २०० किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है।

– ईएमएस