पुलवामा हमले के बाद मोबाइल एप से आतंकियों की भर्ती कर रहा जैश


दिल्ली के लाल किले के पास से पकड़े गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सज्जाद खान ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है।
Photo/Twitter

आतंकी सज्जाद ने खोला राज

नई दिल्ली। दिल्ली के लाल किले के पास से पकड़े गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी सज्जाद खान ने पूछताछ में बड़ा खुलासा किया है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश आतंकियों की भर्ती के लिए नाम के मोबाइल एप का इस्तेमाल कर रहा है। दिल्ली में गिरफ्तार जैश आतंकी सज्जाद खान दिल्ली और आसपास स्लीपर सेल बनाने की साजिश रच रहा था। एनआईए सूत्रों के अनुसार जैश के आकाओं के कहने पर सज्जाद खान पुलवामा में हुए हमले के बाद आतंकियों की भर्ती के लिए नाम के एप के जरिये दूसरे आतंकियों के संपर्क में था। खुफिया एजेंसी ने टेस्टनो नाम के इस मोबाइल एप का पता लगा लिया था, जिसके बाद सज्जाद पर लगातार नजर रखी जा रही थी।

पुलवामा हमले के तुरंत बाद जैश के कमांडर मुदासिर ने एप के जरिये सज्जाद की मेसेज भी भेजा था। बताया जा रहा है कि सज्जाद खान 14 फरवरी को जम्मू और कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के मास्टर माइंड मुदासिर का करीबी था। सज्जाद खान जम्मू कश्मीर के त्राल का रहने वाला है। सज्जाद पुलवामा हमले के बाद भागकर दिल्ली आ गया था। हालांकि दिल्ली आने के बाद भी वह लगातार जैश-ए-मोहम्मद से संपर्क साधे हुए थे। खुफिया एजेंसियों को इनपुट मिले थे कि जैश दिल्ली में भी एक आत्मघाती हमले को अंजाम दे सकता है। ऐसे में सज्जाद का पुलिस के हाथ लगना एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

– ईएमएस