ADR की रिपोर्ट में पता चला की 15% महिला उम्मीदवार पर चल रहे केस और 26% हैं करोड़पति


(Photo Credit : theasianpost.co.uk)

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के अनुसार, 2019 में लोकसभा चुनाव लड़ने वाली 716 महिला उम्मीदवारों में से 100 (15%) ने कहा कि उनके खिलाफ आपराधिक मामले बनाए गए थे। उनमें से, 78 (11%) ने कहा कि उनके खिलाफ एक गंभीर आपराधिक मामला चल रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, उनमें से कांग्रेस की 54 महिला उम्मीदवारों में से 14 (26%), भाजपा की 53 उम्मीदवारों में से 18 (34%), बसपा की 24 में से 2 (8%), TMC की 23 में से 6 (26%) और 222 निर्दलीय महिला उम्मीदवारों में से 22 (10%) हैं। हलफनामे में उन्होने खुद के खिलाफ दर्ज मामले की जानकारी दी है।

नेशनल इलेक्शन वॉच और एडीआर ने 724 महिला उम्मीदवारों में से 716 के हलफनामे का विश्लेषण किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि, 78(11%) महिला उम्मीदवारों ने बताया कि उनके विरुद्ध दुष्कर्म, हत्या, हत्या का प्रयास, मिहलाओं के प्रति अपराध जैसे अपराधों में केस दाखिल हैं।

एडीआर ने कहा कि 716 महिला उम्मीदवारों के हलफनामे का विश्लेषण किया गया है, जिसमें 255 (36%) करोड़पति हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस की 54 महिला उम्मीदवारों में से 44 (82%), भाजपा की 53 में से 44 (83%), बसपा की 24 में से 9 (38%), टीएमसी 23 में से 15 (65%) और 222 निर्दलीय महिला उम्मीदवारों में से 43 (19%) ने अपने हलफनामे में 1 करोड़ से अधिक की संपत्ति की जानकारी दी है।

भाजपा की मथुरा उम्मीदवार और अभिनेत्री हेमा मालिनी महिला उम्मीदवारों में सबसे अमीर हैं। उनके पास 250 करोड़ रुपये की संपत्ति है। दूसरे स्थान पर, आंध्र प्रदेश के राजमपेट निर्वाचन क्षेत्र से तेलुगु देश के उम्मीदवार डी. ए. सत्यप्रभा (220 करोड़) और तीसरे स्थान पर पंजाब के भठिंडा के अकाली दल की उम्मीदवार हरसिमरत कौर बादल (217 करोड़) हैं।