7 फीट रॉड खोपड़ी के पार, ऑपरेशन उपरांत सुरक्षित श्रमिक


मुंबई। मुंबई के मलाड क्षेत्र के तानाजी नगर में निर्माणाधीन इमारत की चौथी मंजिल से गिरी राड परिसर में कार्यरत २४ वर्षीय श्रमिक के सिर के आर-पार हो गई। जिसे तत्काल उपचार मिलने से अब वह खतरे से बाहर है। सूत्रों ने बताया कि २४ वर्षीय मोहम्मद गुड्डू नामक मजदूर तानाजी नगर में निर्माणाधीन इमारत के लिए सीमेंट मिलाने का काम कर रहा था कि इमारत की चौथी मंजिल से रॉड उसके सिर पर गिरी। ७ फीट की यह रॉड गुड्डू के सिर के आरपार निकल गई। गुड्डू को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां ५ घंटे चली सर्जरी में डॉक्टरों ने उसे चमत्कारिक रूप से बचा लिया। हैरान करने वाली बात यह है कि रॉड के सिर के आरपार होने के बावजूद दिमाग की मुख्य धमनियों को नुकसान नहीं पहुंचा। गुड्डू के शरीर के बाएं हिस्सा को लकवा मार गया है। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि ३ माह में सुधार आ सकता है। डॉक्टरों के मुताबिक गुड्डू को कम से कम दो हफ्ते अस्पताल में रहना होगा। उसकी हालत में काफी सुधार हो रहा है। न्यूरोसर्जन नितिन कोटाच ने कहा, दर्द कम हो रहा है। गुड्डू की सर्जरी करने वाली टीम के मुखिया डॉ. बटुक दियोरा ने कहा, यह सचमुच चमत्कार है कि ऐसी इंजरी होने के बावजूद आदमी बच गया। वह होश में था क्योंकि रॉड उसके दिमाग के उस हिस्से से आरपार हुई थी जिसे हम सेफ पैसेज यानी सुरक्षित मार्ग कहते हैं। मरीज के ब्रेनस्टेम को नुकसान नहीं हुआ। डॉक्टरों ने रॉड निकालने के लिए गुड्डू की खोपड़ी खोली। पहले यह सुनिाqश्चत किया कि किसी तरह का इंपेâक्शन न हो। डॉक्टरों को रॉड निकालने में काफी समय लगा क्योंकि इस काम में गुड्डू की आंखों की रोशनी खोने का खतरा था।