हिन्दू छात्रों ने मदरसे और मुस्लिम छात्रों ने आरएसएस स्कूल में लिया दाखिला


रामपुर। धर्म को लेकर इन दिनों राजनीति भले ही हो रही लेकिन हकिकत कुछ और ही है। उत्तरप्रदेश के रामपुर में र्धािमक सद्भाव की मिसाल देखने को मिली है। रामपुर में ११ हिन्दू छात्रों ने मदरसे और १४० मुाqस्लम बच्चों ने आरएसएस स्वूâल में दाखिला लिया है। एक अंग्रजी समाचार पत्र के अनुसार रामपुर में दो समुदाय के बच्चों ने अपनी मर्जी से पसंद के स्वूâल और मदरसे में एडमिशन लिया। मदरसे के प्राचार्य जमीतुल अंसार ने बताया कि छात्रों के अभिभावकों को उर्दू भाषा के प्रति लगाव है, जिसके चलते उन्होंने अपने बच्चों को मदरसे में उर्दू पढ़ाने के लिए दाखिला दिलवाया। अंसार ने बताया कि िंहदू छात्र और उनके अभिभावक उर्दू को मिर्जा गालिब, राहत इंदौरी जैसे बड़े शायरों की वजह से पसंद करते हैं। ऐसे में वो मदरसे में पढ़कर उर्दू जुबान के और ज्यादा करीब होना चाहते हैं। रामपुर के १४२ मुाqस्लम बच्चों ने भी आरएसएस के स्वूâल में मुाqस्लम दाखिला लिया। हालांकि आरएसएस स्वूâल में मुाqस्लम बच्चों के दाखिला लेने की वजह का पक्ष पता नहीं चल पाया। याद रहे कि आरएसएस को िंहदूवादी विचाराधारा का िंथक टैंक माना जाता है।