हावर्ड में लेक्चर का गलत दावा मीसा को पड़ा महंगा, केस दर्ज


मुजफ्फरपुर । राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती मुश्किल में पड़ गई हैं। उनके द्वारा किया गया हावर्ड यूनिवर्सिटी में लेक्चर देने का दावा गलत निकला है। इस मामले में अब मीसा पर सीजेएम की अदालत में केस दर्ज कराया गया है। इसमें उन पर धोखाधड़ी और विश्वासघात का आरोप लगाया गया है। न्यायालय ने मामले की सुनवाई के लिए पांच जून की तिथि निर्धारित की है।
यह मामला सात मार्च को हार्वर्ड यूनिर्विसटी में इंडिया कॉन्प्रेंâस से जुड़ा है। इसमें मीसा भारती को भी दर्शक के तौर पर बुलाया गया था। बताया जाता है कि कांप्रेंâस खत्म होने के बाद मीसा मंच पर चली गर्इं और खूब तस्वीरें िंखचवार्इं। इसके बाद ये तस्वीरें सभी भारतीय अखबारों को ये कहकर जारी कर दी गई कि उन्होंने यहां पर लेक्चर दिया। हार्वर्ड यूनिर्विसटी का कहना था कि मीसा भारती को बतौर श्रोता के तौर पर बुलाया गया था न कि वक्ता के तौर पर।
भारतीय जनता पार्टी कला संस्कृति मंच से जुड़े चंद्र किशोर पाराशर की ओर से दर्ज कराये गये मामले में पराशर ने लिखा है, समाचार पत्रों में पढ़ा कि डॉ. मीसा भारती हॉर्वर्ड विश्वविद्यालय छात्र संघ के समारोह को संबोधित करेंगी। इससे खुश होकर मैंने उन्हें बधाई भी दी। चंद्र किशोर पाराशर ने कहा कि मीसा ने कार्यक्रम समाप्त होने पर मंच पर खड़े होकर वक्ता के रूप में फोटो िंखचवा कर मीडिया को दिया था। मीसा भारती ने जनता के साथ धोखाधड़ी व विश्वासघात किया है।