हर घर में शौचालय नहीं बना तो भूख हड़ताल करेंगे चंद्रबाबू नायड़ू


हैदराबाद (ईएमएस)। आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने चेतावनी दी है कि यदि लोगों ने अपने घरों में शौचालय नहीं बनवाए तो वे धरने पर बैठ जाएंगे। इसके लिए मुख्यमंत्री भूख हड़ताल का भी मन बना चुके हैं। आंध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम जिले के इछापुरम में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने सभी लोगों को अपने-अपने घरों में शौचालय बनाने के लिए 31 मार्च तक का समय दिया है। उन्होंने कहा अगर लोगों ने इस अवधि में शौचालय नहीं बनवाए, तो वे धरने पर बैठ जाएंगे।

आंध्रप्रदेश को खुले में शौच से पूरी तरह मुक्त करने के लिए मुख्यमंत्री ने सभी लोगों को अपने-अपने घरों में शौचालय बनाने के लिए 31 मार्च तक का समय दिया है। श्रीकाकुलम जिले के इछापुरम में आयोजित एक जनसभा में मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि अगर आप शौचालय नहीं बनाएंगे तो मैं आपके गांव आउंगा, आपके घर आउंगा। पूरा दिन आपके घर में बैठा रहूंगा। पूरी रात बैठा रहूंगा। कम से कम तब आप लोगों को मुझ पर दया आएगी। मैं तब तक बैठा रहूंगा। जब तक आप शौचालय नहीं बना लेते। उसके बाद ही अमरावती (आंध्रप्रदेश की राजधानी) लौटूंगा। मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू जिस श्रीकाकुलम में जनसभा कर रहे थे, वहां चार लाख से ज्यादा आबादी है और उसमें से 2 लाख 37 घरों में शौचालय नहीं हैं।

यानि आधे से ज्यादा आबादी खुले में शौच के लिए जाती है। आंध्रप्रदेश में 13 जिले हैं और उनमें से सात जिलों में आज भी लोग खुले में शौच के लिए जाते हैं। सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय बनाने के अभियान को प्रमुखता से लिया है। श्रीकाकुलम कलेक्टर को मुख्यमंत्री ने आदेश दिया है कि 31 मार्च के बाद कोई भी घर और गांव शौचालय विहीन नहीं होना चाहिए। नायडू ने कहा कि अगर घर में जगह नहीं हो तो सार्वजनिक शौचालय होना चाहिए, लेकिन 31 मार्च के बाद कोई भी खुले में शौच करता हुआ नजर नहीं आना चाहिए।