सड़क दुर्घटना में मारा गया युवक, परिजनों को मिला 90 लाख मुआवजा


नई दिल्ली । मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) के द्वारा लापरवाही से बस चलाने के कारण दुर्घटना में २७ वर्षीययुवक की मौत हो गई। दुर्घटना में मारे गए युवक के परिजनों को ९० लाख रुपये मुआवजा राशि देने का ऐलान किया गया हैपीठासीन अधिकारी रिंवद्र बेदी ने दुर्घटना में शामिल बस की बीमाकर्ता द न्यू इंडिया इंश्योरेंस वंâपनी लिमिटेड को वर्ष २०१३ में मारे गए सवल दास की पत्नी, अभिभावकों और दो बच्चों को ८९ लाख ९८ हजार ८४० रुपये का मुआवजा देने वनिर्देश दिया।
सवल दास के परिजनों की ओर से दायर याचिका के मुताबिक, पांच फरवरी, २०१३ को वह सुबह मोटरसाइकिल से अपने कार्यालय से लौट रहा था। राष्ट्रीय राजमार्ग २४ पर मयूर विहार के ट्रैफिक सिग्नल पर जैसे ही वह पहुंचा एक बस ने टक्कर मार दी। टक्कर के बाद सवल बेहोश हो गया और उसे गंभीर चोटें आर्इं। एलबीएस अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार के लोगों ने मुआवजे के तौर पर ८० लाख रुपये का दावा किया था। बस के ड्राइवर और मालिक ने दावा किया था कि पुलिस ने उन्हें फर्जी तरीके से पंâसाया था।