सौर ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य समय से पहले पा लेगी सरकार


मुंबई। सरकार को सौर ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य समय से पहले प्राप्त कर लेने का भरोसा है। उसने २०२२ तक १०० गीगावॉट सौर ऊर्जा उत्पादन का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि इसे २०१७ तक हासिल कर लेने की पूरी उम्मीद है।
मुंबई यूनिर्विसटी में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे गोयल ने बताया कि मार्च में संपन्न हुए वित्त वर्ष २०१५-१६ में सौर ऊर्जा उत्पादन पहले ही १९ हजार मेगावॉट को पार कर चुका है। जब राजग सरकार सत्ता में आई थी तब सोलर एनर्जी क्षमता सिर्पâ २,४०० मेगावॉट थी।
तभी नेशनल सोलर एनर्जी मिशन ने २०२२ तक २० हजार मेगावॉट का लक्ष्य निर्धारित किया था। लेकिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाद में इस लक्ष्य को पांच गुना बढ़ाकर १०० गीगावॉट कर दिया था।
अक्षय स्रोतों से वेंâद्र सरकार ने २०२२ तक १७५ गीगावॉट ऊर्जा उत्पादन का महात्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। इसमें १०० गीगावॉट सोलर, ६० गीगावॉट पवन, १० गीगावॉट बायोमास और पांच गीगावॉट हाइड्रोइलोqक्ट्रक परियोजनाओं से प्राप्त किया जाना है। सरकार इस दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है। अक्षय ऊर्जा उत्पादन पर उसका विशेष जोर है।