सुप्रीम कोर्ट में उठा चंदन तस्कर एनकाउंटर मामला


नईदिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में कथित चंदन तस्कर मुठभेड़ का मामला गुरूवार को पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट में वकील आर कृष्णार्मूित ने चित्तूर की घटना का जिक्र किया। कृष्णर्मूित ने चित्तूर मुठभेड़ मामले की जांच सीबीआइ या एसआइटी से कराने की मांग की है।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर इस मामले में कोई याचिका दायर होती है, तो उसे गंभीरता से लिया जाएगा। कांग्रेस ने भी चित्तूर में हुई मुठभेड़ पर कई सवाल उठाए हैं। कांग्रेस नेता ईवीकेएस एलांगोवन ने कहा कि इस मुठभेड़ में पुलिस ने मासूम लोगों को आत्मसमर्पण करने का मौका नहीं दिया। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ में मारे गए कई लोग मजदूर थे, जिन पर काफी बर्बर कार्रवाई की गई। पुलिस ने बिना चेतावनी दिए फायिंरग शुरू कर दी। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। चंदन तस्करों के मुठभेड़ के मामले में गृह मंत्रालय ने आंध्र प्रदेश सरकार से जबाव-तलब किया। मंत्रालय ने राज्य सरकार को मुठभेड़ की परिाqस्थतियों का विस्तृत विवरण देने को कहा है। इसके पहले आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू गृहमंत्री राजनाथ िंसह को फोन कर इस मामले में सफाई दे चुके हैं। राजनाथ ने कहा कि मैं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री से फिर बात करूंगा। गौरतलब है कि बता दें कि चित्तूर जिले के सेषचलम पर्वतीय क्षेत्र के जंगल में मंगलवार सुबह पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में लाल चंदन के बीस तस्कर मारे गए थे। यह तस्कर चंद्रागिरी के जंगलों में लकड़ी काट रहे थे। छह पुलिसकर्मी भी इस मुठभेड़ में घायल हुए थे।