सवा दो करोड़ रूपये के फूल, विज्ञान भवन में सजते है


नई दिल्ली। सरकार के सभी मंत्रालयों एवं विभागों के कार्यक्रमों का आयोजन सरकार के प्रमुख सभागार वेंâद्र विज्ञान भवन में किया जाता है। आरटीआई से प्राप्त जानकारी के मुताबिक पिछले दो सालों में विज्ञान भवन पर पूâलों की सजावट में २.२९ करोड़ रूपये खर्च किए गये थे। वेंâद्रीय सार्वजनिक कार्य विभाग द्वारा सभागार वेंâद्र का रखरखाव किया जाता है। विज्ञान वेंâद्र कार्यालय द्वारा आईटीआई पर दिए गए जबाव में बताया गया कि २०१२-१३ में विज्ञान भवन को पूâलों से सजाने एवं प्लांटेड में खर्च एक करोड़ १८ लाख ४१ हजार ४८० है एवं २०१२-१३ के लिए खर्च एक करोड़ ११ लाख ४९ हजार ५५० है। वर्ष २०१२-१३ में पूâलों पर प्रतिदिन का औसत खर्च ३२ हजार ४४० था जबकि २०१३-१४ में औसत रोज का पूâलों का खर्च ३० हजार ५४० रूपये था। गुड़गांव निवासी द्वारा दायर आरटीआई याचिका के जबाव में विज्ञान भवन कार्यालय ने बताया कि पूâलों की व्यवस्था आधिकारिक डिनर, कार्यक्रमों एवं प्रतिष्ठित व्यक्तियों को बुके देने के लिए की गयी थी। सीपीडब्ल्यूडी ने जानकारी दिया कि विज्ञान भवन में पूâलों का कार्य मेसर्स नीलम फ्लोरिस्ट तथा संजय फ्लोरिस्ट द्वारा किया जाता है। सीपीडब्ल्यूडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विज्ञान भवन का उपयोग विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों द्वारा किया जाता है तथा उन्हीं की मांग पर पूâल मगांए जाते है तथा राशि भी उन्हीं के द्वारा विभाग को की जाती है एवं विभाग ठेकेदार को पैसा अदा करता है।