सबसे अमीर सीएम होंगी शशिकला


चेन्नई । तमिलनाडु की मुख्यमंत्री बनने जा रही शशिकला नटराजन देश की सबसे अमीर सीएम होंगी। अगर देश में भूतपूर्व और मौजूदा मुख्यमंत्रियों की सूची पर नजर डाला जाय तो तमिलनाडु की नई मुख्यमंत्री शशिकला नटराजन सबसे रईस बताई जा रही हैं। जहां कोई अन्य मुख्यमंत्री पहली बार मुख्यमंत्री बना तो निजी संपत्ति इतनी नहीं की रईस मुख्यमंत्री का तमगा दिया जाए। एक, दो और कई बार मुख्यमंत्री रहने के बाद निजी संपत्ति में कई गुना इजाफा होने के मामले तो सामने आए हैं। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री जललिता की राजनीतिक और निजी विरासत की कमान संभालने वाली शशिकला पहली बार मुख्यमंत्री बन रही हैं। देश के बाकी मुख्यमंत्रियों की पहली पारी की तुलना में शशिकला रईस मुख्यमंत्री हैं। जयललिता पहली बार 1991 में मुख्यमंत्री बनीं और उनका पहला कार्यकाल सुर्खियों में रहा क्योंकि जयललिता की संपत्ति में उम्मीद से अधिक इजाफा हो गया। मुख्यमंत्री बनने से एक साल पहले तक निजी संपत्ति का कोई आंकड़ा नहीं था। पहले कार्यकाल में सीधे 68 करोड़ रुपये की निजी संपत्ति का आंका जाना एक गरीब अथवा सामान्य महिला से अमीर मुख्यमंत्री बनना माना गया। साल 2015 के चुनावों में जयललिता ने 113 करोड़ की संपत्ति घोषित की। अब इस संपत्ति पर शशिकला का अधिकार है।

जयललिता की चेन्नई के पोश गार्डन स्थित निवास वेदा निलायम की मौजूदा कीमत 43़ 96 करोड़ रुपये है। शपथपत्र के मुताबिक यह निवास उन्होंने 1967 में महज 1़ 32 लाख रुपये में खरीदा था। अब जयललिता की मृत्यु के बाद शशिकला ने इसे अपना निवास बना लिया है। चुनाव आयोग को 2015 में दिए गए ब्यौरे के मुताबिक जयललिता के पास 9 देसी और विदेशी गाड़ियों का काफिला था जिसकी कुल कीमत 42़ 25 लाख रुपये आंकी गई थी। आज यह गाड़ियां वेदा निलायम की पार्किंग में तैनात हैं और शशिकला के पास इनकी चाभियां मौजूद हैं। जयललिता ने अपने करीबी शशिकला, ज़े एलवरासी और व्ही सुधागरन के साथ पार्टनरशिप में चेन्नई के इर्द-गिर्द पोश इलाकों में कई फार्म हाउस और समुद्र के किनारे संपत्ति बनाई थी। इन पार्टनर्स के साथ रियल एस्टेट में कई बड़े निवेश किए हैं। जिसमें 800 एकड़ में फैले कोडानाड चाय के बागान शामिल हैं। इस बागान की कीमत कम से कम 400 करोड़ रुपये आंकी गई है। सिरुथवूर में जयललिता के एक फॉर्म हाउस की कीमत 50 करोड़ रुपये आंकी गई है। इस फॉर्म हाउस के नजदीक फिल्मों में म्यूजिक डायरेक्टर गंगई अमारन की 22 एकड़ जमीन मौजूद थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि जयललिता की करीबी शशिकला ने महज 13 लाख रुपये में वह जमीन हथिया ली थी जबकि उसकी तत्कालीन कीमत 1़ 5 करोड़ रुपये थी। अब 55 करोड़ रुपये की इस संपत्ति पर भी शशिकाल का कब्जा हैं। शशिकला के भाई विनोधागन ने 1991 में 37 लाख रुपये में थांजावुर मेडिकल सेंटर खरीदा था जिसे बाद में विनोधागन मेमोरियल हॉस्पिटल में बदल दिया गया। इस संपत्ति पर अब शशिकला का भतीजा महादेवन काबिज है।

शशिकला के दूसरे भाई वी दिवाकरन ने सेनगामला वुमेन कॉलेज की स्थापना कायदे मिल्लत जिला में 10 एकड़ लंबे प्लॉट पर की है। इस संपत्ति को 3 करोड़ रुपये की आंकी गई है। शशिकला के परिवार ने हाल ही में थिरुवरूर में राइस और ऑयल प्लांट खरीदा है। इस प्लांट के बारे में कहा जाता है कि शशिकला के परिवार ने क्षेत्रीय शराब माफिया रामास्वामी ओडयार से 54 लाख रुपये में खरीदी थी लेकिन इसकी मौजूदा कीमत करोड़ों में आंकी गई है। शशिकला ने लगभग 1 करोड़ रुपये की लागत से अपने मूल निवास थिरूथुरायपूंडी में दो मंजिला शादी घर का निर्माण करा रखा है जिससे उनकी सालाना आय लाखों में होती है। इसके अलावा शशिकला के एक अन्य भाई सुंदरवादानम ने हाल ही में अपनी स्टेट बैंक की नौकरी छोड़कर मेटल पार्ट की कंपनी शुरू की है। इन्होने ही कंपनी की शुरुआत जयललिता की संपत्ति को संभालने के लिए किया है।