सऊदी अरब की जेलों में सबसे ज्यादा भारतीय कैदी


-७२ देशों की जेलों में बंद हैं, ६८०४ भारतीय
नई दिल्ली। विश्व के ७२ देशों की जेल में बंद ६८०४ भारतीय नागरिक इस समय नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। इनमें से ४१ फीसद से ज्यादा वैâदी तो अकेले ही सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की जेलों में बंद है। २०१३ से अभी तक विभिन्न देशों की जेलों में ४९ भारतीयों की मौत हो चुकी है।
एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार, आरटीआई एाqक्टविस्ट और जम्मू-कश्मीर निवासी रमन शर्मा द्वारा पिछले माह सूचना के अधिकार के तहत इस बारे में विदेश मंत्रालय से जानकारी मांगी गई थी, जिसके जवाब में विदेश मंत्रालय ने यह सूचना उपलब्ध कराई है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, सऊदी अरब की जेलों में सबसे ज्यादा भारतीय वैâदी हैं जहां इनकी संख्या १६९६ है। जबकि इसके बाद यूएई और नेपाल का नबंर आता है जहां क्रमश: ११४३ और ८५९ भारतीय वैâदी जेलों में बद है।
इन सबके अलावा, उजबेकिस्तान, अर्मेनिया, फिजी, जर्ॉिजया, हंग्री, माल्टा, नाइजर और सेनेगल के जेलों में भी एक-एक भारतीय नागरिक बंद है।
आरटीआई से प्राप्त जानकारी के अनुसार, विदेशों की जेलों में बंद इन नागिरकों के अपराधों की बात की जाए तो उनमें आप्रवासन / वीजा नियमों का उल्लंघन, अवैध रूप से रहना और अवैध प्रवेश, अवैध यात्रा दस्तावेज, र्आिथक अपराध, रोजगार अनुबंधों का उल्लंघन, बिना वीजा के काम करना जैसे अपराध शामिल हैं। कुछ शहरों में शराब पर प्रतिबंध होने के बावजूद भारतीयों द्वारा शराब का सेवन करने पर उन्हें जेलों में रखा गया है।