विविधता में एकता की ताकत खो रहा देश : रॉबर्ट वाड्रा


नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस पार्टी की ओर से मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला जा रहा है। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार को राफेल डील पर घेरा हुआ है, पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रोजगार के मुद्दे पर हमला बोला था। अब सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने भी मोदी सरकार पर हमला बोला है। अपने फेसबुक पोस्ट में वाड्रा ने लिखा कि इस सरकार के अंतर्गत हम नेताओं से कई इस तरह के बयान सुनते हैं, जो कि समाज को बांटने का काम करते हैं। रॉबर्ट वाड्रा का ये पोस्ट बीजेपी नेता विनय कटियार के ताजमहल को लेकर दिए गए बयान पर दिया। गौरतलब है कि आगरा में होने वाले ताज महोत्सव को लेकर कटियार ने कहा था कि वहां पर ‘ताज महल’ का नाम ‘तेजो महल’ होना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा था कि मुसलमानों को पाकिस्तान चले जाना चाहिए। वाड्रा ने लिखा कि हमारा देश महात्मा गांधी का देश है, जिन्होंने हमें अहिंसा, सेक्युलरिज्म सिखाया है। उन्होंने लिखा कि आज के भारत में धर्मनिरपेक्षता, घृणा-विरोधी और उपद्रव की नीति को बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने लिखा कि यह हमारे लिए काफी शर्मनाक है भारत अपनी विविधता में पहचान की ताकत को खो रहा है। क्या हमें ऐसे लोगों को देश को बांटने देना चाहिए। इस प्रकार की बयानबाजी बंद होनी चाहिए।
– सोनिया ने किया था वार
पूर्व पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को भी मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा कि वह समय से पहले चुनाव के लिए तैयार रहें। अगले 1 साल में हमें कई राज्यों के चुनाव का सामना करना है, इसके अलावा केंद्र सरकार पहले लोकसभा चुनाव भी करा सकती है। जिस तरह 2004 में कराया था। उन्होंने कहा कि 2014 की हार हमारे लिए एक झटका थी। उन्होंने कहा कि हमें मोदी सरकार की कमियों पर कम बल्कि अपनी रणनीति पर काम करना चाहिए और लोगों को बताना चाहिए। ग्रामीण भारत और छोटे व्यापारियों की हालात ठीक नहीं है। सोनिया ने कहा कि युवाओं में रोजगार को लेकर चिंता बढ़ती जा रही है, देश में नए रोजगार नहीं बढ़ रहे हैं। और इसके अलावा लोग अपनी पुरानी नौकरियां भी खोते जा रहे हैं। रोजगार के लिए नया इन्वेस्टमेंट होना जरुरी है, लेकिन पिछले चार सालों में ऐसा नहीं हो पाया है।