विमान हादसे में मृतकों के परिजनों को 90 लाख मुआवजा


– मोदी सरकार ने वायुयान दुर्घटनाओं पर बढ़ाया मुआवजा
नई दिल्ली। वायुयान में यात्रा करते समय यात्रियों के सामान खोने अथवा दुर्घटना होने पर एयरलाइंस द्वारा दिए जाने वाले मुआवजे को नरेंद्र मोदी की सरकार ने बढ़ा दिया है। यदि किसी व्यक्ति की विमान दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है अथवा गंभीर चोट आती है तो अब यात्री को दिए जाने वाले मुआवजे को ७५ लाख से बढ़ाकर ९० लाख कर दिया गया है। उड़ान में अत्यधिक देरी के मामले में अब मुआवजा ३.५ लाख रूपये तक हो सकता है। पहले यह अधिकतम तीन लाख रूपये था। यात्रियों के सामान खोने पर अब यात्रियों को अधिकतम ८४ हजार रूपये तक का मुआवजा मिल सकेगा। पहले यह राशि अधिकतम ७४ हजार रूपये तक थी। एयर वैâरिएज एक्ट में संशोधन के साथ बढ़े हुए मुआवजे को वैâबिनेट में लाया गया। जिसके अंतर्गत उड़ान की देरी में हुई क्षति, सामान खोने एवं दुर्घटना में मृत्यु जैसे मामलों का निराकरण किया जाता है। एयरलाइन जिम्मेंदारी एवं छतिपूर्ति को नियंत्रित करने वाले १९९९ मांट्रील कन्वेंशन के अनुसार भारतीय विमान सेवाओं को अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइंस के समान ही मुआवजा यात्रियों को अदा करेगी।