विधानसभा- मांगे पूरी होने तक रहेगा धरना


– ८ विधायक भूख हड़ताल पर
– किसानों को राहत देने में शासन की रूचि नहीं
भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के गर्भगृह में धरना, मांग पूरी नहीं होने तक जारी रहेगा। उक्ताशय की घोषणा नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे तथा प्रदेशाध्यक्ष अरूण यादव ने संयुक्त रूप से की। विधानसभा परिसर में पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने अभी तक उनकी मांग को लेकर कोई चर्चा नहीं की। सरकार की किसानों को राहत देने में कोई रूचि नहीं है। वह घोषणायें कर किसान और जनता के साथ सरकार धोखा कर रही है। उन्होंने कहा कि कल गुरूवार से ७ विधायक जिनमें जीतू पटवारी, शैलेंद्र पटेल, नीलेश अवस्थी, सौरभ सिंह, जितेश भण्डारी, उमंग सिधार तथा कमलेश्वर पटेल तथा एक अन्य विधायक अन्न का त्याग कर आंदोलन को तेज करेगे।
– शैलेष यादव की मौत की जांच सीबीआई से
नेता प्रतिपक्ष सत्यदेव कटारे ने राज्यपाल रामनरेश यादव के पुत्र शैलेष यादव की मौत को संदेहास्पद बताकर सीबीआई जांच की मांग की है। उनका कहना था कि व्यापम घोटाले के आरोपी होने से उन्हें कई रहस्य मालुम थे। जिस तरह राज्यपाल के बेटे की मौत संदेहास्पद स्थिति में हुई है। उससे व्यापम घोटाले को दबाने के लिए भी हो सकती है। अतः इसकी निष्पक्ष जांच सीबीआई के द्वारा ही संभव है।
– देर रात विधानसभा के गर्भगृह में धरना दे रहे कांग्रेस विधायकों को हटाने के लिए देर रात बल प्रयोग कर रणनीति पर विचार हो रहा है।देश में पहली बार सदन की कार्यवाही स्थगन होने के बाद गर्भगृह में धरना देकर विधान भवन को राजनीति का अड्डा बनाने की बात कहकर विधायकों को हटाने पर विचार हो रहा है। इससे म.प्र. की राजनैतिक हलचलें तेज हो गई है।
नोट- संपादकगण कृपया इस समाचार का उपयोग समाचार क्रमांक (२५आरएस०५एचओ) के साथ करे।