विदेशों में भारतीय आम की मांग बढ़ी


– ४५ हजार टन पहुंच सकता है निर्यात
नई दिल्ली। स्वीडन, जापान और इंग्लैंड जैसे देशों से भारतीय आमों की मांग आना शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि इनमें कुछ ऐसे देश भी शामिल हैं, जिन्हें पहले कभी आम निर्यात नहीं किया गया। एग्रीकल्चरल एंड प्रॉसेस्ड पूâड प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथॉरिटी (अपीडा) का मानना है कि इस साल निर्यात में मामूली बढ़ोतरी हो सकती है। भारत से ज्यादातर आम पश्चिमी एशिया के देशों को निर्यात किया जाता है। इसके अलावा इंग्लैंड, अमेरिका और जापान को भी कुछ चुिंनदा किस्मों के आम एक्सपोर्ट किए जाते हैं। लेकिन इस बार स्वीडन ने भी भारत से आम की मांग की है। अपीडा के अनुसार पिछले वित्त वर्ष में भारत से ४२९९८ टन आम निर्यात किया गया था। इस साल जापान और इंग्लैंड ने भी अच्छी-खासी मांग की है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि इस साल निर्यात का आंकड़ा ४५००० टन पहुंच सकता है।