वातानुकूलित हो रही है 18 सौ फीट नीचे स्थित कोयला खदान


धनबाद । भारत कोिंकग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) की मुनीडीह माइंस देश की पहली वातानुवूâलित खदान होगाी। पहली बार कोयला खदान में तापमान अनुवूâलन के लिए एयर वंâडीशिंनग सिस्टम लगाया जा रहा है। इससे खदान के अंदर श्रमिकों को अनुवूâल वातावरण में काम करने का माहौल मिलेगा। बीसीसीएल के महाप्रबंधक (सेफ्टी) एसके िंसह ने बताया कि एक वंâपनी को एसी लगाने का काम दे दिया गया है। मार्च से पहले काम पूरा कर लिया जाएगा। प्रथम पेâज में इस काम में पांच करोड़ रुपये खर्च होंगे। मुनीडीह कोयला खदान राष्ट्रीयकरण के पहले महुदा ग्रुप की खदान थी, जो एनएमडीसी (नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन) के अधीन थी। इस खदान की गहराई ५४५ से ५६० मीटर थी, जो कोयला उत्पादन के साथ और गहरी होती जा रही है। मौजूदा समय में ६०० मीटर (करीब १८ सौ फीट) नीचे कोयला खनन किया जा रहा है। खदान से गैस निकाल कर बिजली उत्पादन के उपयोग में भी लाया जा रहा है।