वरदराजन, नीरज को मरणोपरांत अशोक चक्र


नईदिल्ली। देश के ६६वें गणतंत्र दिवस समारोह में कश्मीर घाटी में आतंकवादियों का मुकाबला करते हुए अपने प्राण न्योछावर करने वाले मेजर जनरल मुवुंâद वरदराजन और नायक नीरज कुमार िंसह को आज मरणोपरांत अशोक चक्र प्रदान किया गया। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गणतंत्र दिवस परेड के दौरान मेजर वरदराजन और नायक िंसह के परिजनों को शांति के समय दिया जाने वाला यह सर्वोच्च सैन्य सम्मान प्रदान किया। इन सपूतों की पाqत्नयों ने सम्मान ग्रहण किया। इस मौके पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा बतौर मुख्य अतिथि मौजूद थे।
राजपूत रेजीमेंट के अधिकारी मेजर वरदराजन ने पिछले साल अप्रैल में जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया था। इस दौरान वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे और बाद में उनकी मौत हो गई थी। नायक नीरज िंसह २४ अगस्त, २०१४ को जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में तलाशी अभियान का नेतृत्व करते हुए आतंकवादियों की गोलीबारी की चपेट में आ गए थे। िंसह ने बेहोश होने तक वहां से जाने से इंकार कर दिया। इसके बाद में उन्हें वहां ले जाया गया और फिर उनकी मौत हो गई।