लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा खर्च करने वाली पार्टी बनी भाजपा


भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जहां खर्चा करने में सबसे आगे है, वहीं पैसे बचाने में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का कोई जवाब नहीं है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जहां खर्चा करने में सबसे आगे है, वहीं पैसे बचाने में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) का कोई जवाब नहीं है। पार्टियों की ओर से चुनाव आयोग को जो खर्च का ब्यौरा दिया गया है, उसमें बसपा ने अपना बैंक बैलेंस 669 करोड़ रुपए बताया है।

दूसरी ओर भाजपा की बचत सिर्फ 82 करोड़ हैं और इस मामले में वह सपा, कांग्रेस और तेदपा से भी पीछे पांचवें स्थान पर है। हालांकि कांग्रेस की ओर से पिछले साल हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद अभी ब्यौरा नहीं दिया गया है। इनमें से तीन राज्यों में उसकी सरकार बनी है। दिसंबर के आंकड़ों के हिसाब से वह बचत के मामले में तीसरे स्थान पर है।

खर्चा करने में भाजपा ने सभी दलों को बहुत पीछे छोड़ दिया है। पार्टी की और से 758 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च करने की बात आयोग को बताई गई है। इसके अलावा भाजपा ऐसी पार्टी भी है जिसे सबसे ज्यादा चंदा मिल रहा है। पार्टी ने वर्ष 2017-18 में कुल 1027 करोड़ रुपए चंदा मिलने की बात घोषित की है। पार्टियों के इनकम टैक्स रिटर्न के आधार पर एसोसिएशन फार डेमोक्रेटिक रिफाम्र्स ने जो रिपोर्ट तैयार की है, उसके अनुसार भाजपा को 2016-17 में भी 1034 करोड़ रुपए का चंदा मिला था। गत 25 फरवरी तक बसपा के आठ बैंक खातों में कुल 669 करोड़ रुपए जमा थे, यह राशि पिछले साल 13 दिसंबर की तुलना में एक करोड़ कम और मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और तेलंगाना राज्यों के चुनाव से पहले 6 अक्तूबर 2018 की तुलना में पांच करोड़ रुपए ज्याद है।

हालांकि इन चुनाव के दौरान उसने 24 करोड़ रुपए जुटाए। बचत के मामले में सपा दूसरे स्थान पर है। उसके खातों में 471 करोड़ रुपए जमा हैं। हालांकि उक्त राज्यों के चुनाव के बाद उसके खाते में 11 करोड़ रुपए कम हुए हैं। 196 करोड़ की बैंक बचत के साथ कांग्रेस तीसरे स्थान पर है। चौथे स्थान पर तेलगु देशम पार्टी का बैंक बैलेंस 107 करोड़ रुपए है, जो भाजपा से ज्यादा है।

– ईएमएस