रेलवे स्टेशनों में वाई फाई सुविधा का गलत इस्तेमाल


पटना । देश के चुनिंदा रेलवे स्टेशनों पर रेलवे की तरफ से प्रâी वाईफाई की सुविधा दी जा रही है। लेकिन, इस सुविधा का इस्तेमाल गलत कामों में हो रहा है। जानकारी आई है कि अधिकांश रेलवे स्टेशनों पर पोर्न फिल्मे सर्वाधिक डाउनलोड की गई है। इस बात को लेकर रेलवे भी चिंतित है और रोकने की पहल कर रहा है।
जानकारी के अनुसार रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने करीब १ महीने पहले प्रâी वाई-फाई जोन का लोकार्पण किया था। लोकार्पण करते हुए प्रभु ने कहा था कि जंक्शन के वाई-फाई जोन से यात्री ऑनलाइन टिकट के साथ-साथ पीएनआर चेक करने और ट्रेन का स्टेटस पता लगा सकते हैं। लेकिन यात्रियों द्वारा प्रâी वाई-फाई के जरिए पॉर्न वीडियो ाqक्लप जमकर डाउनलोड किया जा रहा है। आपको बताते चलें की रेलवे के द्वारा दी जानेवाली इन सुविधाओं का दुरुपयोग किए जाने की जानकारी वेंâद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु को कई यात्रियों ने ट्वीट के जरिए दी है। रेल मंत्री सुरेश प्रभु को ट्वीट करते हुए यह कहा गया है कि यह बहुत बड़ी विडंबना है कि इस प्रâी वाई-फाई जोन में किसी भी साइट पर बैन नहीं लगाया गया है। यहां तक की इस प्रâी वाई-फाई जोन में लोग सिर्पâ पॉर्न साइट ही नहीं देख सकते बाqल्क उसे डाउनलोड कर सकते है। साथ ही यात्री ने अपने ट्वीट के जरिए यह कहा कि रेलवे के द्वारा चालू कराई गई यह सुविधा कोई गलत नहीं है। लेकिन कुछ यात्रियों के द्वारा पॉर्न वीडियो ाqक्लप देखना और डाउनलोड करना इंटरनेट का मामला है। जिसे पाqब्लक के खर्चे पर ऐसी सुविधा न दी जाए। रेलवे के अधिकारी भी जानते हैं यात्रियों की इन गंदी बातों के बारे में रेलवे के कई अधिकारियों की मानें तो आने जाने के क्रम में प्रतिदिन कुछ ऐसे यात्री दिख जाते हैं जो अपना मोबाइल के जरिए सोशल मीडिया पर एाqक्टव रहते हैं या फिर पॉर्न वीडियो ाqक्लप देखते हैं या उसे डाउनलोड करते रहते हैं। इस मामले के बारे में जानकारी देते हुए रेलवे के ईसीआर सीपीआरओ एके रजक ने बताया कि रेलवे द्वारा चालू की गई इन सुविधाओं को यात्रियों के द्वारा दुरुपयोग करने का मामला बहुत ही दुखद है। कई बार मुझे भी इसकी शिकायत मिल चुकी है। वहीं इस मामले पर पॉलिसी के अनुसार जो भी कार्रवाई की जा सकती है वह की जाएगी। साथ ही अगर कोई रिाqस्ट्रक्शन लगाने की आवश्यकता पड़ी तो उसे भी लगाया जा सकता है।