राहुल गांधी को मानहानि केस में पेशी से छूट


मुम्बई। बम्बई उच्च न्यायालय ने आरएसएस के खिलाफ कथित टिप्पणी पर भिवंडी कोर्ट में दायर मानहानि के मामले में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को व्यक्तिगत रूप से उस अदालत में उपाqस्थत होने से छूट प्रदान की।
उच्च न्यायालय में न्यायर्मूित एमएन टहलियानी की ओर से राहुल को १७ फरवरी तक छूट प्रदान की गई। उच्च न्यायालय राहुल गांधी की ओर से दायर उस याचिका पर मंगलवार को सुनवाई कर रही था जिसमें आरएसएस कार्यकर्ता राजेश वुंâटे द्वारा उनकी और अन्य के खिलाफ दायर मानहानि याचिका को रद्द करने की मांग की थी। वुंâटे ने भिवंडी की मजिस्ट्रेट अदालत में मानहानि का केस दर्ज कराया था, जिसमें आरोप लगाया था कि राहुल ने पिछले वर्ष मार्च में एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि एक आरएसएस कार्यकर्ता ने महात्मा गांधी की हत्या की थी। गौरतलब है कि इस मामले में मजिस्ट्रेट एसवी स्वामी ने जुलाई २०१३ में राहुल गांधी को उपाqस्थत होने के लिए सम्मन जारी किया था। इसी कोर्ट ने अत्तूâबर में राहुल को उपाqस्थत होने से छूट प्रदान की थी लेकिन ७ जनवरी को उपाqस्थत होने को कहा था। उच्च न्यायालय ने हालांकि मामले को निरस्त करने के बारे में अभी पैâसला नहीं किया, लेकिन राहुल गांधी को भिवंडी कोर्ट में उपाqस्थत होने से १७ फरवरी तक छूट प्रदान दी।