रामलीला मैदान में सोनिया करेगी बड़ी रैली


नई दिल्ली । दिल्ली कांग्रेस में जान फूंकने और बारिश से हुई किसानों की फसल के लिए मुआवजे की मांग को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी दिल्ली के रामलीला मैदान में एक बड़ी रैली करने जा रही हैं। जानकारी के मुताबिक, रैली आगामी १२ अप्रैल को हो सकती है। रैली में लैंड बिल के खिलाफ भी आवाज उठाई जाएगी। कांग्रेस की ओर से रैली के लिए रामलीला मैदान बुक कराने की अर्जी भी एमसीडी को दे दी गई है। रैली में दिल्ली के किसानों के साथ साथ हरियाणा, यूपी, राजस्थान और पंजाब के किसान शामिल होंगे। इसके लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। खास बात यह है कि रैली से पहले प्रदेश कांग्रेस दिल्ली में किसान रथ निकालेगी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन ने बताया कि किसान रथ को बुधवार या गुरूवार को प्रदेश कांग्रेस ऑफिस से रवाना किया जाएगा। यह रथ दिल्ली के १२ विधानसभा क्षेत्रों में जाएगा। किसान रथ यात्रा के लिए रूट तय करने का काम किया जा रहा है। जिस भी विधाानसभा क्षेत्र में सुबह के समय रथ यात्रा निकलेगी शाम के वक्त उस विधानसभा क्षेत्र में एक सभा का आयोजन किया जाएगा। इस सभा को माकन संबोधित करेंगे। यह रथ अधिकतर किसानों वाली विधानसभा क्षेत्र में जाएगा। नरेला, महरौली, नजफगढ़, मुंडका, बवाना, पालम, बिजवासन, छतरपुर जैसी विधानसभा क्षेत्रों से रथ यात्रा होकर गुजरेगी। रथ यात्रा में कांग्रेस के पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, मौजूदा और पूर्व पार्षद व संगठन के नेता शामिल रहेंगे। राजधानी में इस रैली के लिए प्रदेश कांग्रेस ने अभी से काम करना शुरू कर दिया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन मंगलवार को बवाना, कटेवड़ा, कुतुबगढ़ जैसे इलाकों में जाकर किसानों से मिलेंगे। इसके बाद रथ यात्रा शुरू होगी। जानकारी के मुताबिक दिल्ली में करीब २५ हजार किसान हैं जो खेती करते हैं। अगर इनके परिवारों को भी जोड़ा जाए तो इनकी संख्या एक लाख से ऊपर बैठती है। पिछले दिनों हुई दिल्ली में बारिश के कारण इनकी फसल पर जबरदस्त असर पड़ा है। रामलीला मैदान में होने वाली सोनिया की रैली के लिए हरियाणा, राजस्थान, यूपी और पंजाब से भी किसानों को लाने की तैयारी शुरू हो चुकी है। सोनिया गांधी हरियाणा के उन कई जिलों का दौरा भी कर चुकी हैं जहां बारिश से फसलें बर्बाद हो गई हैं। सोनिया की दिल्ली में होने वाली रैली को प्रदेश कांग्रेस के लिए भी संजीवनी के रूप में देखा जा रहा है। रामलीला मैदान में रैली करने का मकसद यह भी है कि दिल्ली के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में इस रैली से जोश भरा जा सके, क्योंकि पिछले तीन चुनावों में कांग्रेस को जबरदस्त हार का मुंह देखना पड़ा है। लोकसभा चुनाव और बाद में हुए विधानसभा चुनाव में तो कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई है। इससे कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में निराशा आई है। अब कांग्रेस अध्यक्ष फिर से कार्यकर्ताओं में नया जोश भरने के लिए भी रैली करने जा रही हैं।