रामलला को किया सुरक्षित


पैâजाबाद। रामलला के मेक शिफ्ट स्ट्रक्चर के दक्षिण तरफ बालू की सौ के करीब बोरियां बदली गर्इं। यह बोरियां फट चुकी थीं और इसमें भरा बालू बिखर रहा था। इन बोरियों को रखे जाने का मकसद रामलला के मंडप को बरसात के पानी से होने वाली कटान से बचाना है। साथ ही मंडप के इर्द-गिर्द उग आर्इं अनचाही झाड़ियों की भी सफाई की गई। मौका माह के दूसरे रविवार को होने वाले विवादित परिसर के निरीक्षण का था। निरीक्षण में जज टीएस खान, जिलाधिकारी योगेश्वरराम मिश्र, अधिवक्ता रणजीतलाल वर्मा, निर्मोही अखाड़ा के पंच पुजारी रामदास, स्वामी हरिदयाल शास्त्री, हाजी महबूब, बादशाह खान सहित पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के प्रतिनिधि शामिल हुए।