राज्यसभा चुनाव को लेकर बना उत्तराखंड जंग का मैदान


देहरादून। राज्यसभा चुनाव को लेकर उत्तराखंड जंग का मैदान बन सकता है। चार जुलाई को रिक्त हो रही राज्यसभा सीट को लेकर कांग्रेस की राह भले ही आसान नजर आ रही हो, लेकिन विधानसभा सदस्यता से हाथ धो चुके कांग्रेस के नौ बागी भाजपा के साथ मिलकर कांग्रेस की मुाqश्कलें बढ़ाने की तैयारी में हैं। भले ही उन्हें फिर अदालत का दरवाजा ही क्यों न खटखटाना पड़े।
ऐसे में उत्तराखंड में राज्यसभा सीट के लिए चुनाव तय समय से पीछे खिसकते दिखें तो आश्चर्य नहीं होना चाहिए। उधर वेंâद्रीय निर्वाचन आयोग से राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को राज्यसभा चुनाव के बारे में निर्देश पहुंच चुके हैं। इस बारे में विधानसभा को शनिवार को सूचित किया जा सकता है। चुनाव की अधिसूचना २४ मई को जारी होगी। ११ जून को चुनाव हो सकते हैं।
प्रदेश में बीती १८ मार्च से जारी सियासी उठापटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा व कांग्रेस के बागियों का गठजोड़ एकदूसरे को नीचा दिखाने का मौका नहीं चूक रहे हैं। राष्ट्रपति शासन हटने और कांग्रेस सरकार की बहाली के बाद दोनों के बीच चले लंबे संघर्ष में विराम लगा है। लेकिन, ये क्षणिक साबित होने जा रहा है।
वजह राज्यसभा सीट को लेकर दोनों पक्षों के बीच जंग छिड़नी लगभग तय है। राज्यसभा में भाजपा सांसद तरुण विजय की सीट आगामी चार जुलाई को रिक्त होने जा रही है।