मोदी सरकार और आरएसएस एक-दूसरे से नाराज


नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल के कुछ पैâसलों से है नाराज
नई दिल्ली। मोदी सरकार और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के बीच मनमुटाव चल रहा है। जहां संघ मोदी मंत्रिमंडल के कुछ फैसलों से नाराज है। वहीं संघ के लोगों के कट्टर बयानों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नाखुश हैं। संघ और इससे जुड़े संगठनों के कट्टर हिंदूवादी बयानों को लेकर विपक्ष ने सरकार पर जमकर हमले किए, जिसके बाद भले ही संघ ने तय कर लिया हो कि फिलहाल सरकार को काम करने दिया जाएगा, लेकिन सरकार और संघ के बीच मनमुटाव की झलक मिलनी शुरू हो गई है। संघ इंश्योरेंस में एफडीआई और भूमि अधिग्रहण अध्यादेश पर मोदी सरकार से नाराज है। वहीं प्रधानमंत्री, संघ से जुड़े लोगों का लगातार कट्टर बयान देने से नाखुश हैं। संघ और भाजपा के बीच सामंजस्य देख रहे संघ के सह-सरकार्यवाह डॉ कृष्ण गोपाल ने पहली बार संकेत दिए हैं कि आरएसएस मोदी से तो खुश है लेकिन उनके मंत्रिमंडल से खुश नहीं है। कृष्ण गोपाल ने कहा कि अकेले प्रधानमंत्री के ईमानदार होने से कुछ नहीं होगा। सबको साथ काम करना होगा। संघ के सीनियर पदाधिकारी ने कहा कि आरएसएस मोदी मंत्रिमंडल के कुछ लोगों से खुश नहीं है। उन्होंने कहा कि संघ भाजपा पर फिलहाल अपना एजेंडा लागू करने के लिए दबाव नहीं बना रहा है, लेकिन सरकार के कई ऐसे फैसले हैं जिनसे संघ खुश नहीं है। संघ के एक पदाधिकारी के मुताबिक फिलहाल सरकार को उसके हिसाब से काम करने में कोई दखल नहीं दे रहा है, पर हम अपना काम जारी रखेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को कुछ वक्त देने के बाद हम अपने एजेंडे को मुखर ढंग से उठाएंगे