मोदी- शाह की जोड़ी यूपी में विस चुनाव का बिगुल पूंâकेगी


लखनऊ  प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की दो रैलियां यूपी में चुनावी माहौल गरमा देंगी। अमित शाह २४ फरवरी को बहराइच में राजा सुहैल देव की स्मृति में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. इसके साथ ही पूरे राज्य में सुहैल देव से जुड़े कार्यक्रमों की शुरुआत की जाएगी.भाजपा की दलित राजनीति का एक और मोर्चा २६ फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनारस में खोलेंगे. वहां मोदी दलितों के एक अन्य महापुरुष संत रविदास की प्रतिमा का अनावरण करेंगे.
आजकल लखनऊ में भाजपा की दो बातों के लिए चर्चा हो रही है. एक तो २४ फरवरी को बहराइच में होने वाली अमित शाह की बड़ी रैली की और दूसरी मौजूदा विधानसभा के बजट सत्र में सरकार के प्रति भाजपा के उदासीन रवैए की.
वेंâद्र में सरकार बनने के बाद भाजपा की राजनीति ने जबर्दस्त राजनीतिक मोड़ लिया है. संघ प्रमुख (मोहन भागवत) से लेकर सरकार प्रमुख (नरेंद्र मोदी) तक गाहे-बगाहे आंबेडकर और दलितों को याद करते हैं. यह धारणा अब आम हो चली है कि संघ दलितों को अपने पाले में खींच कर एक ऐसा अकाटय वोटबैंक तैयार करना चाहता है जिससे उत्तर प्रदेश में भाजपा को आगामी विधानसभा चुनाव में सरकार बनाने में सहूलियत हो सके.