मेहर ने थरूर से कहा था कि वह उनके बिना जी नहीं पाएगी!


० नलिनी िंसह के बयान ने बढ़ाई थरूर की मुश्किलें
० जरूरत पड़ी तो मेहर से भी पूछताछ करेगी पुलिस
नईदिल्ली । संदिग्ध परिस्थितियों में हुई सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में उनके पति और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। इस मामले में वरिष्ठ पत्रकार नलिनी िंसह ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि सुनंदा पुष्कर ने अपनी मौत से कुछ घंटों पहले उन्हें (नलिनी को) बताया था कि शशि थरूर ने पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के साथ दुबई में तीन दिन बिताए थे। मेहर तरार ने थरूर से यह भी कहा था कि वह उनके (थरूर के) बिना जी नहीं पाएगी। नलिनी सिंह के इस बयान को देखते हुए जहां थरूर की परेशानी बढ़ गई है वहीं पुलिस का कहना है कि सुनंदा पुष्कर हत्याकांड की जांच में पूरी सतर्वâता बरती जा रही है। पुलिस आयुक्त भीमसेन बस्सी ने दावा किया जांच में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जा रही है।
थरूर से पूछताछ करने से पहले दिल्ली पुलिस की एसआईटी सालों पुराने सबूतों को खंगाल रही है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि नलिनी िंसह के इस बयान से जुड़ी कई बातें हैं जिनकी गंभीरता से जांच की जरूरत है। नलिनी ने पुलिस को दिए बयान में कहा है, ‘मैं सुनंदा को समाजिक तौर पर पिछले तीन-चार सालों से जानती थी। करीब एक साल से सुनंदा मुझसे अपनी निजी िंजदगी के बारे में बात करने लगी थीं। लगभग ६-७ महीने पहले सुनंदा ने थरूर और तरार की दिलचस्पी को लेकर अपना दर्द बयां किया था।’ उन्होंने आगे कहा, ‘सुनंदा ने मुझे कहा था कि वह जून २०१३ में दुबई में शशि थरूर और मेहर तरार के तीन दिनों तक साथ रहने को लेकर पूरी तरह आश्वस्त थीं क्योंकि दुबई में उनकी (सुनंदा की) मजबूत पकड़ थी। उनके दोस्तों ने उन्हें इसकी जानकारी दी थी। सुनंदा का दावा था कि उसके पास इन आरोपों के सबूत हैं।’ नलिनी ने कहा, ‘१६-१७ जनवरी, २०१४ की रात १२ बजकर १० मिनट पर मेरे मोबाइल पर सुनंदा का फोन आया। वह सिसक रही थीं।’
नलिनी िंसह ने बताया, ‘सुनंदा ने मोबाइल पर मुझसे कहा कि शशि और तरार ने एक-दूसरे को अंतरंग रोमांटिक मेसेजज भेजे हैं। तरार के एक मेसेज से यह पता चल रहा था कि आम चुनावों के बाद थरूर सुनंदा को तलाक देकर तरार से शादी करने वाले थे और तरार ने थरूर को किए मेसेज में लिखा था कि वह थरूर के बिना जी नहीं सकती है। थरूर के ाqट्वटर अकाउंट से पोस्ट किए गए मेसेजेज के बारे में पूछे जाने पर सुनंदा ने मुझसे कहा था कि सारे मेसेजेज बिल्कुल सही थे। सुनंदा ने बताया कि उनके किसी हितैषी ने इन मेसेजेज को सार्वजनिक कर दिया था।’ पुलिस को विश्वास है कि यह शख्स सुनील ठाकुर है। नलिनी िंसह ने बताया ‘सुनंदा ने यह भी कहा था कि उन्होंने आईपीएल के मसले पर थरूर के अपराधों को अपने ऊपर ले लिया था। सुनंदा ने बताया था कि थरूर उन्हें इलाज के लिए कभी किसी हॉाqस्पटल में या डॉक्टर के पास नहीं ले गए। वह बीबीएम (ब्लैक बेरी मेसेंजर) मेसेजेज को दुबारा पाने में मेरी मदद चाहती थी, जिन्हें थरूर ने डिलीट कर दिया था। इस बातचीत के दौरान सुनंदा किसी व्यक्ति से साहब के बारे में कुछ पूछने लगी जिसके जवाब में किसी पुरुष की िंहदी में बोलते हुए आवाज सुनाई दी।’ पुलिस इस व्यक्ति को नारायण मान रही है।
० जांच को लेकर पुलिस पर लग रहे आरोप बेबुनियाद: बस्सी
वहीं सुनंदा पुष्कर हत्याकांड की जांच में लग रहे लापरवाही के आरोप पर सोमवार को पुलिस आयुक्त भीमसेन बस्सी ने दावा किया कि जांच में किसी तरह की लापरवाही नहीं बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि वसंत विहार के एसडीएम व दक्षिण जिला पुलिस की टीम ने घटना के बाद हर संभावित पहलुओं पर विस्तृत जांच की थी और हत्या का मुकदमा दर्ज करने के बाद भी जांच जारी है। जांच पूरी होने के बाद जरूरी पहलुओं को मीडिया से साझा किया जाएगा। इसके बाद संदेह की गुंजाइश नहीं रह जाएगी।
पुलिस आयुक्त ने कहा कि पोस्टमार्टम की अंतिम रिपोर्ट के आधार पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है, इस दिशा में जांच अभी प्रथम चरण में है। लिहाजा, अंतिम निर्णय नहीं बताया जा सकता है। मामले को दबाने व लीपापोती करने के आरोपों पर बस्सी ने कहा कि सभी आरोप बेबुनियाद व मनगढ़ंत हैं। किसी की सोच पर पाबंदी नहीं लगाई जा सकती है। पुलिस का काम सुबूतों के आधार पर जांच करना है। एक सवाल के जवाब में पुलिस आयुक्त ने कहा कि जरूरत पड़ने पर सुनंदा के पति व पूर्व वेंâद्रीय मंत्री शशि थरूर और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से निाqश्चत रूप से पूछताछ की जाएगी। उन्होंने बताया कि होटल लीला में सुबूतों से छेड़छाड़ नहीं की गई है। जांच जल्द ही किसी निष्कर्ष पर पहुंच जाएगी।
० वकीलों से सलाह ले रहे थरूर
वहीं दूसरी ओर यह मामला फिर से खुलने के बाद सुनंदा पुष्कर के पति और कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर वकीलों से सलाह –मशविरा कर रहे हैं। रविवार को केरल से दिल्ली लौटे थरूर के आवास पर दोपहर करीब तीन बजे से ही वकीलों का आना-जाना शुरू हो गया था। पुलिस ने उनके घर के बाहर सुरक्षार्किमयों की तैनाती भी कर दी है। पुलिस का कहना कि जब तक मामला शांत नहीं हो जाता, थरूर के आवास के बाहर सुरक्षाकर्मी लगे रहेंगे।
रीता/१३जनवरी/१२:४९