मेरे समक्ष नहीं आई इशरत मामले की फाइल: शिंदे


मुंबई। मुंबई हमले के दोषी लश्कर आतंकी डेविड कोलमैन हेडली के इशरत जहां के बारे में खुलासे से सकते में आई कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को अब जवाब देते नहीं सूझ रहा है। संप्रग सरकार में पी चिदंबरम के बाद गृहमंत्री रहे सुशील कुमार शिंदे तो इस पूरे मामले से साफ कन्नी काट रहे हैं। शिंदे का कहना है कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है। इससे जुड़ी कोई फाइल उनके सामने कभी नहीं आई। पूर्व गृहमंत्री शिंदे ने कहा, `मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। इशरत जहां केस फाइल मेरे समक्ष कभी नहीं आई।’ शिंदे कहते हैं कि, `इस बारे में एनआइए के पूर्व अधिकारी समेत सभी दावे आधारहीन हैं। मेरे पास कोई नहीं आया और इस मामले में मैंने किसी से कोई बात नहीं की।’ दरअसल शिंदे से एनआईए के तत्कालीन संयुक्त निदेशक लोकनाथ बेहरा के दावे के बारे में सवाल पूछा गया था। बेहरा ने कहा है कि इशरत के आतंकी होने के बारे में उन्होंने गृह मंत्रालय को बता दिया था। लेकिन मंत्रालय ने एनआइए की रिपोर्ट से उस अंश को निकाल दिया था। ध्यान रहे कि हेडली ने अपनी गवाही में इशरत को लश्कर का आतंकी बताया था। इसके बाद कांग्रेस नेतृत्व वाली संप्रग सरकार पर मामले में जानबूझ कर तथ्यों से छेड़छाड़ करने का आरोप लग रहा है। बता दें कि शिंदे जुलाई, २०१२ से मई, २०१४ तक देश के गृह मंत्री रहे थे।