मेक इन इंडिया की सफलता की कुंजी निर्यात : निर्मला सीतारमण


नईदिल्ली। सरकार निर्यात प्रदर्शन में बेहतरी से जुड़े अहम उपायों की सलाह देने के लिए एक सलाहकार समिति का गठन करेगी। केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुश्री निर्मला सीतारमण ने मुंबई में कहा कि मेक इन इंडिया पहल की सफलता सुनिाqश्चत करने में निर्यात एक प्रमुख भूमिका अदा कर सकता है। शनिवार की रात ईसीजीसी डुन एंड ब्रैड स्ट्रीट निर्यात प्रदर्शन पुरस्कार समारोह में बोलते हुए उन्होंने कहा कि जीडीपी में इसके योगदान को देखते हुए भारत में विनिर्माण आज की तुलना में कहीं ज्यादा हो सकता है। उन्होंने कहा कि जब मैं भारत में विनिर्माण, मात्रा और मूल्य दोनों के लिहाज से, की बात करती हूं, तो उसमें मैं अपने निर्यातकों की शामिल करती हूं, जिन्होंने कठिन समय में भी अपना हौसला बनाए रखा है। सुश्री सीतारमण ने ‘व्यवसाय करने की सुगमता’ के प्रति सरकार की वचनबद्धता को दोहराया और लोगों को भरोसा दिलाया कि निर्यात क्षेत्र के लिए भी ऐसे ही कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने जोर देकर कहा कि काफी कुछ कहा जा रहा है, तो काफी कुछ सरकार के स्तर पर किया भी जा रहा है। उन्होंने कहा कि हाल ही में वित्त मंत्री द्वारा शुरू किया गया ई-बिज पोर्टल विनिर्माताओं एवं निर्यातकों के लिए एक बड़ा वरदान है। एक अन्य पोर्टल निर्यातकों के लिए जानकारी प्राप्त करने में मददगार होगा कि किस उत्पाद की कहां ज्यादा मांग है। उन्होंने कहा कि पिछले दो दशकों के दौरान भारतीय निर्यातकों की रूपरेखा में काफी बदलाव आया है और अब उन्हें कम गुणवत्ता वाला नहीं आंका जाता। उन्होंने कहा कि विदेशी बाजारों तक पहुंच इसलिए सीमित नहीं रही है कि भारतीय निर्यातकों की गुणवत्ता या उत्पाद विविधीकरण में कोई कमी है, बाqल्क ऐसा उन देशों की सुरक्षावादी नीतियों के कारण है, जो भारतीय निर्यातकों से दूरी बनाए रखते हैं और अपने ऐसे ही निर्यातकों तथा उद्योगों को बढ़ावा देना चाहते हैं।
बाद में सुश्री सीतारमण ने समग्र निर्यात प्रदर्शन, नवाचार, जोखिम प्रबंधन प्रचलनों, सेज निर्यातों, महिला उद्यमियों जैसे विभिन्न क्षेत्रों से जुड़ी ३३ वंâपनियों को ईसीजीसी डुन एंड ब्रैड स्ट्रीट भारतीय निर्यातक उत्कृष्टता पुरस्कार-२०१५ प्रदान किए। बैंक ऑफ बडौदा के एमडी एवं सीईओ रंजन धवन, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में संयुक्त सचिव अरिंवद मेहता, ईसीजीसी की सीएमडी गीता मुरलीधर, वित्तीय संस्थानों, निर्यात घरानों, उद्योग निकायों एवं वंâपनियों के प्रमुख अधिकारियों ने समारोह में भाग लिया।