मुंबई में महिला ने किया १०वीं कक्षा के छात्र का यौन शोषण !


मुंबई। किसी महिला द्वारा कम उम्र के लड़कों को हवस का शिकार बनाने के मामले कम ही प्रकाश में आते हैं। लेकिन एक ऐसा ही मामला मुंबई में सामने आया है जब एक ४० साल की महिला ने १०वीं कक्षा के छात्र को हवस का शिकार बनाया। लेकिन मुंबई पुलिस पीड़ित छात्र की शिकायत पर कार्रवाई करने में आनाकानी कर रही है। मिली जानकारी के मुताबिक १०वीं कक्षा का छात्र चेंबूर के वाशीनाका परिसर में अपने माता-पिता के साथ रहता है। उसी परिसर में रहने वाली आरोपी महिला के बेटे के साथ उसकी दोस्ती है। इस वजह से पीड़ित लड़का का महिला के घर में आना-जाना होता रहता है। पिछले साल दिसंबर महिने में अपने मित्र को ढ़ूंढ़ने जब पीड़ित लड़का उसके घर गया तब वो वहां नहीं था लेकिन आरोपी महिला ने उसे बातों में उलझाकर वहीं बिठा लिया। इस बीच महिला ने पीड़ित लड़के को शीतपेय में नशीला पदार्थ मिलाकर पीने के लिए दिया। लड़का के बेशुद्ध होने पर उसने उसे हवस का शिकार बनाया। इतना ही नहीं लड़के की अर्धनग्न तस्वीर अपने मोबाइल वैâमरे में वैâद कर ली। जब लड़के को होश आया तब उसे एहसास हुआ कि उसका यौन शोषण हुआ है। उसने इस बाबत महिला से पूछा तो महिला गुस्से में आ गई और उसे तथा उसके परिवार वालों को जान से मारने की धमकी दी। इस धमकी के बल पर अब आरोपी महिला हर रोज पीड़ित लड़के को हवस का शिकार बनाने लगी। लड़के की दिनो-दिन हालत खराब होते देख उसके घरवालों ने पूछा लेकिन १०वीं की परीक्षा का टेंशन होने की बात कह वह सच्चाई को टालता रहा। लेकिन कुछ दिनों बाद लड़के ने सारी बात अपने घरवालों को बताई। फिर इस बात की शिकायत आरसीएफ पुलिस थाने में जाकर लिखित शिकायत की। लेकिन महिला की शिकायत से घबराकर लड़के ने पुलिस के समक्ष सच्चाई नहीं बयां की। जिसके चलते पुलिस ने महिला को चेतावनी देकर छोड़ दिया। इस मामले के बाद आरोपी महिला की हिम्मत और बढ़ गई। उसने पीड़ित लड़के को विभ्नि जगहों पर मिलने बुलाने लगी और उसकाा यौन शोषण करना बदस्तूर जारी रहा। इतना ही नहीं महिला ने लड़के के साथ नवी मुंबई के एक मंदिर में जाकर जबरन शादी भी कर ली। इसके बाद वह लड़के को पैसा के लिए ब्लैकमेल करने लगी। उसकी मांग को पूरा करने के लिए पीड़ित लड़का घर में चोरी करने लगा। लेकिन जब बात हद से आगे बढ़ने लगी तब लड़के का सब्र का बांध टूट गया और सारी बात उसने अपने घरवालों को बताई। जिसके बाद पुन: पीड़ित लड़के को लेकर उसके माता-पिता आरसीएफ पुलिस थाना पहुंचे और आरोपी महिला के यौन शोषण की बाात पुलिस को बताई। पुलिस ने लड़के का स्टेटमेंट दर्ज कर लिया है मगर उसने अबतक महिला को गिरफ्तार नहीं किया है।