मुंबई धमाकों के दोषी याकूब की फांसी बरकरार


नईदिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई बम धमाकों के आरोपी याकूब अब्दुल रजाक मेमन की पुर्निवचार याचिका खारिज कर दी है। इस याचिका में उसने १९९३ के मुंबई बम विस्फोटों के मामले में अपनी मौत की सजा की समीक्षा करने का आग्रह किया था। न्यायर्मूित ए आर दवे की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मेमन की पुनिर्वचार याचिका खारिज कर दी। वह इस मामले में एकमात्र ऐसा दोषी है जिसे मौत की सजा सुनाई गई है। शीर्ष अदालत ने २ जून २०१४ को मेमन की मौत की सजा के अनुपालन पर रोक लगा दी थी। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने २१ मार्च २०१३ को मेमन को सुनाई गई फांसी की सजा की पुाqष्ट की थी। साथ ही इस मामले में टाडा अदालत द्वारा १० अन्य को दी गई मौत की सजा को घटाकर उम्रवैâद में तब्दील कर दिया था जिन्होंने मुंबई में विभिन्न स्थानों पर आरडीएक्स लदे वाहन खड़े किए थे।